पेपर बैग बनाने का बिजनेस कैसे करें? लागत प्रक्रिया लाभ सहित संपूर्ण जानकारी हिंदी में | Best business idea In Hindi 2023

पेपर बैग बनाने का बिजनेस,पेपर बैग मैन्युफैक्चरिंग प्लांट, मार्केट रिसर्च करें, बिजनेस प्लान तैयार करें,मशीन, रॉ मैटेरियल, मेकिंग प्रोसेस, मार्केटिंग, लाभ, लाइसेंस एवं पंजीकरण आदि)

Hindi Business Ideas Join Now
Hindi Business Ideas Join Now

पेपर बैग बनाने का बिजनेस कैसे करें – दोस्तों हम लोग रोज अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए बाजार से जरूरत की वस्तुएं खरीदने जाते है उन वस्तुओं को रखने के लिए पहले हम प्लास्टिक कैरी बैग इस्तेमाल किया करते थे जो आसानी से उपलब्ध था लेकिन उससे बहुत अधिक कचरा फैल जाता था एवं प्लास्टिक का होने के वजह से मिट्टी में सालों तक दबे रहने के बाद भी सड़ता एवं गलता नहीं है जो प्रदूषण एवं पर्यावरण के लिए बहुत खतरनाक होता है जिससे तरह तरह की बीमारियों का खतरा बना रहता है।

अंततः सरकारों ने इससे हो रहे नुकसान को देखते हुए पूरी तरह से प्रतिबंधित कर दिया और प्लास्टिक के खिलाफ लड़ाई में सरकार के साथ साथ कमर्शियल क्षेत्रों एवं सामाजिक संगठनों ने भी हाथ मिलाया इसके बाद प्लास्टिक कैरी बैग पर प्रतिबंध लग गया उसकी जगह पेपर से बना कैरी बैग का इस्तेमाल बढ़ गया।

सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि पूरी तरह से पेपर से बने होते हैं जो हमारे पर्यावरण के अनुकूल हैं और जब तक ये बैग खराब न हो जायें इनका कई बार उपयोग किया जा सकता है इसको सबसे ज्यादा कपड़ा, मोबाइल, किराना, मिठाई, सब्जी, इलेक्ट्रॉनिक आदि दुकानों पर उपयोग किया जाता है इसलिए हर दृष्टिकोण से सिंगल यूज प्लास्टिक के मुकाबले पेपर बैग का उपयोग सबसे अच्छा विकल्प है ऐसे में पेपर बैग बनाने का बिजनेस लम्बे समय तक चलने वाला बिजनेस हो सकता है भविष्य में इसकी डिमांड और अधिक बढने वाली है।

होमपेज पर जाने के लिए यहाँ क्लिक करें

ऐसे में यदि आपके पास कौशल,निवेश की क्षमता और बिजनेस में रूचि है तो पेपर कैरी बैग मैन्युफैक्चरिंग प्लांट स्थापित कर अपना स्वयं का बिजनेस शुरू कर सकते हैं तो आइये इस आर्टिकल के माध्यम से समझते हैं कि पेपर बैग बनाने का बिजनेस कैसे करें और इस बिजनेस को शुरू करने में कम से कम कितना निवेश करना पडेगा और कौन कौन सा मशीन और रॉ मैटेरियल लगता है प्रक्रिया, मार्केटिंग, लाभ इत्यादि के बारे में विश्लेषण करते हैं।

Table of Contents

मार्केट रिसर्च एवं बिजनेस प्लान (Market Analysis and Business Plan)

पेपर बैग बनाने का बिजनेस एक लघु उद्योग है सरकार के साथ लोगों का रूझान धीरे धीरे उद्योग की तरफ बढ़ रहा है कोई भी बिजनेस शुरू करने से पहले पूरी पेपरवर्क और प्लानिंग कर लें जहाँ पर आपको बिजनेस शुरू करना है वहाँ की क्लाइमेट कंडीशन, डिमांड एन्ड सप्लाई को समझ लें पेपर बैग निर्माण प्लांट शुरू करने के लिए आपको निवेश, मशीन, रॉ मैटेरियल, प्रकिया, मार्केटिंग और लाभ, लाइसेंस एवं आवश्यक रजिस्ट्रेशन जैसी विभिन्न बातों का बारिकी से प्लानिंग करना चाहिए और जब आप गहनता से अध्ययन करेंगे तो आपको बिजनेस की कमजोरी और मजबूती का भी पता चलेगा बिजनेस शुरू करने के लिए चार्टर्ड एकाउंटेंट की मदद भी ले सकते हैं।

पेपर बैग की उपयोगिता, डिमांड एवं महत्व (Usefulness, demand and importance of paper bags)

पेपर बैग उपयोगिता के आधार पर सिंगल यूज प्लास्टिक के मुकाबले अधिक सरल, टिकाऊ और मजबूत होते हैं क्योंकि लोग इको फै्न्डली और फैस्नेबल वस्तुओं के इस्तेमाल को लेकर अधिक प्रभावित हो रहे हैं यह बेहद आकर्षक होते हैं इनका इस्तेमाल शॉपिंग मॉल, दुकानों पर, क्लाथ बैग, फल, सब्जी आदि कई प्रकार के दैनिक रोजमर्रा के उपयोग की वस्तुओं को रखने में इस्तेमाल में किया जाता है क्योंकि यह कीमत में सस्ते होते है इसी कारण से बाजार में पेपर बैग बनाने का बिजनेस का महत्व और डिमांड ज्यादा रहता है भारत के साथ साथ अन्य देशों में पेपर बैग की डिमांड बहुत ज्यादा है।

पेपर बैग बिज़नेस के लिए लोकेशन (Location for paper bag business)

पेपर बैग निर्माण यूनिट का स्थान चुनना एक महत्वपूर्ण कदम है निर्णय लेने से पहले कई बातों पर विचार करना चाहिए। व्यवसाय स्थान चुनते समय आपको कुछ महत्वपूर्ण बातों पर विचार करना चाहिए।

  1. उस स्थान का चयन करें जहां बिजली, पानी और पर्याप्त जगह उपलब्ध हैं।
  2. आपके द्वारा चुना गया स्थान बाजार के निकट होना चाहिए जहाँ आप आसानी से भंडारण कर सकते हो।
  3. आपका प्लांट मुख्य सड़क पर हो जिससे परिवहन खर्च कम हो और अपने उत्पादों को आसानी से बेच सकें।
  4. उस क्षेत्र में मैनपॉवर और मशीनरी चलाने के लिए कारीगरों की उपलब्धता पर्याप्त हो।

पेपर बैग बनाने के लिए कच्चा माल (Raw material for making paper bags)

पेपर बैग मैन्युफैक्चरिंग प्लांट के लिए निम्नलिखित रॉ मटेरियल की आवश्यकता पड़ती है।

  • पेपर शीट 40″ *60″, 1800 शीट।
  • पेपर रोल कलर और सफेद 500 रीम्स।
  • अलग-अलग प्रकार के कलर आदि।
  • पैकेजिंग कन्‍जुमेबल
  • सुराख़
  • हैण्डल पट्टी
  • पॉलिएस्टर स्टीरियो आदि।

कैरी बैग बनाने का कच्चामाल कहाँ से खरीदें

पेपर बैग बनाने का बिजनेस में कच्चामाल आप आफलाइन नजदीक के बड़े मार्केट में खरीद सकते हैं या आनलाइन ई-कामर्स वेबसाइट INDIAMART या TRADEINDIA पर जाकर सम्पर्क करके खरीद सकते है।

नोटबुक या काॅपी बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें

पेपर बैग बनाने की मशीन (Paper bag making machine)

पेपर बैग बनाने के लिए कई प्रकार की मशीनों की आवश्यकता होती है जिस कारण पेपर बैग का प्लांट लगाने का खर्च थोड़ा बढ़ जाता है पेपर बैग बनाने के लिए आवश्यक मशीनरी की सूची निम्न है।

  • रोल स्लीटर मोटर चालित मशीनें
  • बैग कटिंग मशीन
  • प्रिंटिंग मशीन
  • टेस्टिंग स्‍केल मशीन
  • लेस फिटिंग मशीन
  • स्टीरियो प्रेस और स्टीरियो ग्राइंडर
  • आईलेट फिटिंग मशीन
  • पंचिंग मशीन
  • क्रीज़िंग मशीन

पेपर बैग मेकिंग मशीन कहाँ मिलती है

पेपर बैग बनाने में लगने वाली उपरोक्त मशीनें आप आफलाइन नजदीक के बड़े मार्केट में खरीद सकते हैं या आनलाइन ई-कामर्स वेबसाइट INDIAMART या TRADEINDIA पर जाकर सम्पर्क करके खरीद सकते है।

पेपर बैग बनाने का बिजनेस अगर आप बडे़ लेबल का प्लांट लगाकर शुरू करते हैं तो इसके लिए थोड़ा हैवी इन्वेस्टमेंट करके आटोमेटिक मशीन लेने की आवश्यकता है जिसमें बैग बनाने की प्रोग्रामिंग सेट कर दें उसके बाद बैग बनाने से सम्बन्धित सभी कार्य आटोमेटिक तरीके से आसानी हो जाते हैं और कम समय में अधिक माल तैयार हो जाता है।

पेपर बैग की निर्माण प्रोसेस (Paper bag manufacturing process)

पेपर बैग बनाने का बिजनेस के लिए उपरोक्त मशीनों के द्वारा निम्न चरणों का पालन करते हुए बैग तैयार किया जाता है।

  • मशीन द्वारा पेपर बैग की साइज के अनुसार पेपर को काटना।
  • पेपर की छपाई।
  • फोल्डिंग, पेस्टिंग और शीयरिंग द्वारा आटोमेटिक बैग मेकिंग मशीन का उपयोग करके बैग बनाना।
  • पंच करना।
  • आइलेट फिटिंग करना।
  • लेस फिटिंग करना।

बिना मशीन के पेपर बैग कैसे तैयार करें (Prepare paper bags without machine)

अगर आपको पेपर बैग बनाने की मशीन खरीदने का पैसा नहीं है, तो आप इसे हाथों से भी आसानी से बना सकते हैं। घर पर पेपर बैग बनाना बहुत आसान है और खर्च भी कम है। इसके लिए आपको मशीन की जगह ग्लू, कैंची, पंचिग मशीन आदि की जरूरत होगी। इसके बावजूद, इससे आपकी उत्पादन मशीन की तुलना में बहुत कम होगी।

पेपर बैग बनाने के लिए मैनपावर (Manpower to make paper bags)

पेपर बैग बनाने का बिजनेस छोटे लेबल पर कर रहे है तो पेपर कैरी बैग उत्पादन प्लांट संचालित करने के लिए 2-3 कुशल सक्रिय कर्मचारियों की आवश्यकता होती है।

लेकिन अगर बडे़ लेबल पर उत्पादन प्लांट लगाते हैं तो आपको मशीनों को आपरेट करने, उत्पादन और पैकिंग के लिए मैनपावर की आवश्यकता पड़ती है इन सभी कार्यों के लिए कम से कम 4-5 व्यक्ति की आवश्यकता पड़ती है जिसमें 2 कुशल कारीगर, एक एकाउंटेंट, एक मशीन आपरेटर के साथ 2 हेल्पर की आवश्यकता पड़ सकती है।

पेपर बैग बनाने के बिजनेस में लाभ (Profit in paper bag making business)

पेपर बैग बनाने का बिजनेस में इस्तेमाल होने वाली ऑटोमेटिक मशीन 1 घंटा में लगभग 3600 बैग बनाती है। साधारणतया देखा जाता है कि 1 बैग पर कुल 10 पैसे का लाभ होता है तो प्रत्येक घंटा आपको 360 रुपए का लाभ प्राप्त हो सकता है यदि प्रोडक्शन और मार्केटिंग में सुचारू रूप से तालमेल बना ले और अगर 1 दिन में 8 घंटा मशीन चलती है तो आपको प्रत्येक दिन लगभग 2880 रूपए यानि मासिक तौर पर लगभग 86,400 रूपए की आमदनी हो सकती है।

पेपर बैग बनाने का बिजनेस में कुल लागत (Total Investments)

पेपर बैग बनाने के प्लांट के लिए दो प्रकार के निवेश की जरूरत होती है पहला स्थायी निवेश है जिसमें भूमि, भवन और मशीनरी शामिल हैं उसके बाद दूसरा अस्थाई निवेश जिसमें रॉ मैटेरियल का खर्च, मार्केटिंग का खर्च परिवहन औऱ मेन पावर पर खर्च, विद्युत का खर्च आदि कुल मिलाकर इसमें 28 से 30 लाख रुपए का खर्च आ सकता है जिसका संक्षिप्त प्रोजेक्ट रिपोर्ट निम्नलिखित है।

  • प्‍लांट क्षमता 15 लाख।
  • प्‍लांट एवं मशीन 14 लाख।
  • कार्यशील पूंजी 8 लाख।
  • कुल पूंजी निवेश 30 लाख

पेपर बैग बनाने का बिजनेस छोटे स्तर पर उत्पादन क्षमता और निवेश के अनुसार सेमी आटोमेटिक से शुरू कर रहे हैं तो इसके लिए रेंट पर जगह, उपकरण और कई मशीन की आवश्यकता होगी कुल मिलाकर कम से कम ₹130000-₹150000 रूपये निवेश करना पड़ सकता है।

(नाॅन वोवन) कैरी बैग बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें

व्यापार के लिए ऋण कहाँ से लें (Loan and Subsidy)

पेपर बैग बनाने का बिजनेस एक लघु उद्योग के अन्तर्गत आने वाला बिजनेस है यह प्रोडक्ट पेपर बेस्ड बैग इको फ्रेन्डली होते है जिससेे पर्यावरण या किसी तरह का प्रदूषण नहीं फैलता है जिससे सरकार भी ऐसे उद्योगों को बढ़ावा देती है और लोगों को बड़ी मात्रा में रोजगार भी उपलब्ध होता है।

जिस कारण सरकार मेंक इन इंडिया के तहत ऐसे व्यापार /उद्योग को अधिक सपोर्ट करने के लिए प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना, प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना जैसी ऋण योजनाएं उपलब्ध है जिसकी मदद से आप कम ब्याज दर पर ऋण प्राप्त करके अपना पेपर बैग बनाने का बिजनेस खड़ा कर सकते हैं। उपरोक्त योजनाओं के माध्यम से ऋण लेने एवं सही जानकारी के लिए आपको अपने नजदीक के सरकारी बैंक शाखा में सम्पर्क करना चाहिए।

पेपर बैग बिजनेस की मार्केटिंग कैसे करें (Marketing)

पेपर बैग साधारण यूज प्रोडक्ट है जिसकी मार्केटिंग की खास जरूरत नहीं होती है क्योंकि यह रोजमर्रा उपयोग होने वाली वस्तुओं को रखकर लाने व ले जाने के लिए किया जाता है इसकी डिमांड हर जगह अधिक होती है आपका पेपर बैग बनाने का बिजनेस छोटे स्तर का हैं तो इसकी मार्केटिंग के लिए सभी थोक एवं फुटकर दुकानों, शापिंग मॉल, किराना, कपड़ा, बेकरी, सब्जी, इलेक्ट्रॉनिक, मोबाइल, फल की दुकानों पर टार्गेट कर सकते है।

पेपर बैग बनाने का बिजनेस बडे़ स्तर का हैं तो इसकी मार्केटिंग के लिए मैगज़ीन और न्यूज़ पेपर पर विज्ञापन करवा सकते हैं व्यवसाय को प्रचार प्रसार की सहायता से आफलाइन मार्केटिंग के लिए थोक बिक्रेताओं से सम्पर्क कर सकते हैं बिजिटिंग कार्ड दे सकते हैं कम्पनी को आनलाइन लाने के लिए निजी वेबसाइट बनाकर डिजिटल तरीके से मार्केटिंग कर सकते हैं।

पेपर बैग बनाने का बिजनेस की मार्केटिंग करने के लिए आनलाइन  B2B वेबसाइट INDIAMART, या TRADEINDIA एवं B2C वेबसाइट flipcart , Amazon, meesho आदि के माध्यम से कर सकते हैं।

आवश्यक रजिस्ट्रेशन एवं लाइसेंस (Licences)

पेपर बैग बनाने का बिजनेस अगर आप घर से शुरू कर रहे हैं तो किसी लाइसेंस की जरूरत नहीं पड़ेगी लेकिन पर्यावरण विभाग से एनओसी जरूर ले लें किसी भी व्यापार को बड़े लेबल पर लगाने के लिए भारत सरकार और अलग अलग राज्य सरकार के नियमों एवं कानूनों के अन्तर्गत कुछ निम्नलिखित लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता पड़ेगी।

  • MSME रजिस्ट्रेशन
  • GST रजिस्ट्रेशन
  • ट्रेडमार्क पंजीकरण
  • पैनकार्ड
  • BIS मानक रजिस्ट्रेशन
  • पर्यावरण विभाग एवं फायर कन्ट्रोल बोर्ड से NOC

निष्कर्ष (Conclusion)

इस आर्टिकल को पढ़ने और विश्लेषण करने से यह निष्कर्ष निकाला जा सकता है कोई भी व्यक्ति जिसमें निवेश की क्षमता और बिजनेस में रूचि है वह पेपर बैग बनाने का बिजनेस को बड़ी आसानी और कुशलता चला सकता है क्योंकि यह बिजनेस एक हाई डिमांडेड बिजनेस है इसकी डिमांड हमेशा हर छोटे बड़े मार्केट के साथ विदेशों में भी रहती है और इसकी मैन्युफैक्चरिंग भी बहुत आसान है बस आपको एक बार बिजनेस शुरू करना है।

पेपर बैग बनाने के बिजनेस से सम्बन्धित प्रश्न (Frequently asked questions)

Q1 पेपर बैग बनाने के लिए कच्चा माल कौन कौन सा लगता है?

1. पेपर शीट 40″ *60″, 1800 शीट।
2. पेपर रोल कलर और सफेद 500 रीम्स।
3. अलग-अलग प्रकार के कलर आदि।
4. पैकेजिंग कन्‍जुमेबल
5. सुराख़
6. हैण्डल पट्टी
7. पॉलिएस्टर स्टीरियो आदि।

Q2 पेपर बैग मेकिंग मशीन कहाँ मिलती है?

पेपर बैग बनाने में लगने वाली उपरोक्त मशीनें आप आफलाइन नजदीक के बड़े मार्केट में खरीद सकते हैं या आनलाइन ई-कामर्स वेबसाइट INDIAMART या TRADEINDIA पर जाकर सम्पर्क करके खरीद सकते है।

Q3 पेपर बैग बनाने का बिजनेस में कुल लागत कितनी आती है?

पेपर बैग बनाने के प्लांट के लिए दो प्रकार के निवेश की जरूरत होती है पहला स्थायी निवेश है जिसमें भूमि, भवन और मशीनरी शामिल हैं उसके बाद दूसरा अस्थाई निवेश जिसमें रॉ मैटेरियल का खर्च, मार्केटिंग का खर्च परिवहन औऱ मेन पावर पर खर्च, विद्युत का खर्च आदि कुल मिलाकर इसमें 28 से 30 लाख रुपए का खर्च आ सकता है।

Q4 पेपर बैग बनाने में लाइसेंस कौन कौन सा लगता है?

1. MSME रजिस्ट्रेशन
2. GST रजिस्ट्रेशन
3. ट्रेडमार्क पंजीकरण
4. पैनकार्ड
5. BIS मानक रजिस्ट्रेशन
6. पर्यावरण विभाग एवं फायर कन्ट्रोल बोर्ड से NOC

Q5 पेपर बैग बनाने का बिजनेस में लाभ कितना हो सकता है?

अगर 1 दिन में 8 घंटा मशीन चलती है तो आपको प्रत्येक दिन लगभग 2880 रूपए यानि मासिक तौर पर लगभग 86,400 रूपए की आमदनी हो सकती है।

इन्हें भी पढ़े-

दोस्तों हम उम्मीद करते हैं कि आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह महत्वपूर्ण रोजगार लेख पेपर बैग बनाने का बिजनेस कैसे करें? लागत प्रक्रिया लाभ सहित संपूर्ण जानकारी हिंदी में | Best business idea In Hindi 2023” पसंद आया होगा यदि आपका इससे जुड़ा कोई सवाल या सुझाव है तो हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं इस जानकारी को आगे शेयर जरूर करें ।

Leave a Comment