पानीपूरी का बिजनेस कैसे शुरू करें Low investment high profit golgappa making business in Hindi 2023

पानीपूरी का बिजनेस कैसे शुरू करें | गोलगप्पा का बिजनेस कैसे करें | पानी पुरी स्टॉल कैसे शुरू करें | पानीपूरी का व्यापार कैसे शुरू करें | फुचका का बिजनेस कैसे करें | फुलकी का बिजनेस कैसे शुरू करें

Hindi Business Ideas Join Now
Hindi Business Ideas Join Now

पानीपूरी का बिजनेस कैसे शुरू करें पानीपूरी भारतीय खाद्य पदार्थों में से एक हैं जो प्रत्येक भारतीय की जीभ पानी पूरी का इंतजार करती हैं इस लोकप्रिय स्नैक का चलन अब लोगों को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी पसंद आ रहा है यह प्रसिद्ध स्नैक भूख और एक मनोरंजक अनुभव को पूरा करने का एक अच्छा तरीका है।

पानी पूरी को और भी कई नाम जैसे- गोल गप्पा, फूचका, फुल्की, गुपचुप, पानी के बतासे आदि से जाना जाता है और इसको खाने के लिए पानीपूरी स्टाल पर लोगो की कितनी भीड़ रहती है क्योंकि बच्चे हो या बूढे़ पानी पूरी देखते ही हर किसी के मुंह मे पानी आ जाता है तथा खट्टी-मीठी स्वाद वाली पानीपूरी महिलाओं में सबसे ज्यादा लोकप्रिय है इसे महिलाएं खाना ज्यादा पसंद करतीं हैं इसकी डिमांड हर जगह शहर हो या गांव देहात हर जगह बहुत अधिक रहती है।

होमपेज पर जाने के लिए यहाँ क्लिक करें

अगर आपके मन में अपना बिजनेस शुरू करने का विचार है तो यह बिजनेस शायद आपके लिए उपयुक्त हो सकता है क्योंकि पानीपूरी को कम से कम लागत में शुरू करके इस क्षेत्र में अपनी पहचान को फेमस बना सकते हैं इस लेख में हम आपको बतायेंगे कि पानीपूरी का बिजनेस कैसे शुरू करके कैसे ज्यादा से ज्यादा मुनाफा कमा सकता है।

Table of Contents

पानीपूरी क्या है और कैसे बनता है (What is Panipuri and how is it made)

पानीपूरी एक पारंपरिक भारतीय स्ट्रीट फूड है जो मुख्यतः गेहूं के आटे और सूजी के मिश्रण या सिर्फ सूजी को खाद्य तेल में पकाकर बनाया जाता है पानीपूरी को गोलगप्पा, फूचका, फुल्की, गुपचुप, पानी के बतासे और न जाने कितने अलग-अलग क्षेत्रीय नामों से जाना जाता है।

पानीपूरी एक गोल, खोखली पूरी होती है जिसमें उबला हुआ आलू, उबला हुआ मटर या छोले, कटा हुआ प्याज और हरी मिर्च तथा पूरी में डालने के लिए अलग अलग चटनी और पानी जिसमें स्वादानुसार मसाले जैसे-जलजीरा, इमली, सौंफ, लहसुन, पुदीना, हीेग, नमक, हरी धनिया का पत्ती आदि सभी चीजों का मिश्रण करके डालकर लोगों को खिलाया जाता है।

मार्केट रिसर्च करें (Do market research)

पानीपूरी का बिजनेस में दुकान शुरू करने से पहले उस बिजनेस का मार्केट रिसर्च अवश्य कर लें जैसे बिजनेस कौन-कौन सा राॅ मटेरियल लगता हैं कितना प्रॉफिट बिजनेस में होता है जिस जगह पर आप बिजनेस शुरू कर रहे है आसपास कितने लोग उस बिजनेस को कर रहे हैं तथा जिस क्षेत्र में आप अपना बिजनेस शुरू करना चाहते हैं वहां आपके प्रोडक्ट की डिमांड कैसी है।

पानीपूरी का बिजनेस कैसे शुरू करें एक नजर में (Overview)

उपयुक्त स्थानस्कूल, कॉलेज , दफ्तर ,मार्केट,चौक चौराहा,
ठेले पर शाॅप शुरू करने की लागत₹20000 – ₹25000
प्रतिस्पर्धामध्यम
पानीपूरी बिजनेस के प्रकारखुद का शॉप, होलसेल बिजनेस, कच्चा पानीपूरी बेचकर
एक किलो आटें में पूरी100 – 120
मशीन की लागत
मशीन के साथ शुरू करने पर लागत
₹40,000 – ₹45,000
₹70,000 – ₹80,000
मशीन की क्षमता/घंटा4000 पीस/घंटा
कुल मुनाफा (प्रतिमहीने)लगभग ₹60,000+/महीना
मशीन कहां से खरीदेंनजदीक के बड़े होलसेल मार्केट में या आंनलाइन
INDIAMART, TRADEINDIA वेबसाइट से

एक स्थाई जगह का चयन करें (Select a permanent location)

पानीपूरी का बिजनेस शुरू करने आप अपने स्टॉल को किसी भी स्थान पर स्थानांतरित कर सकते हैं लेकिन सही मायने में आपको हर दिन एक ही जगह पर अपना चाहे वह दुकान 10*10 का या स्टाल लगाना चाहिए जिससे आपके ग्राहक स्थिर रहे और आपकी कमाई इससे कभी कम न हो अगर आप इधर उधर भटक कर बेचते हैं तो आप इतने सफल नहीं होगी इसलिए अगर आप नियमित रूप से एक ही स्थान पर पानीपूरी बेचें तो आप हर दिन पैसे कमाने लगेंगे।

अच्छा लोकेशन चयन करने के लिए आप रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन, कॉलेज, स्कूल, कोचिंग, चौक चौराहे आदि पर अपना स्टॉल लगा सकते हैं। ऐसे स्थानों पर हर दिन हजारों लोग आते हैं। ऐसे में पानीपूरी का बिजनेस तेजी से चलेगा।

पानीपूरी बनाने का राॅ मैटेरियल (Raw material for making Panipuri)

पानीपूरी का बिजनेस में सर्वप्रथम आटा और सूजी दो वस्तुओं का प्रमुखता से प्रयोग किया जाता है आलू, मटर, छोले, प्याज, हरी मिर्च, जलजीरा, इमली, सौंफ, लहसुन, पुदीना, हीेग, नमक, हरी धनिया का पत्ती, दोना पत्तल आदि वस्तुओं का प्रयोग पानीपूरी बनाने में किया जाता है स्वादानुसार एवं प्रोडक्ट की क्वालिटी के अनुसार राॅ मटेरियल अलग अलग हो सकता है। आइए इस चार्ट के माध्यम से समझने हैं-

राॅ मैटेरियलकीमतराॅ मैटेरियलकीमत
आटा35-40सूजी35-40
मैदा45-50आलू15-20
मटर60-70छोले70-80
प्याज20-30लहसुन50-100
सौंठ100-120हीेग
हरी धनिया का पत्तीहरा पुदीना पत्ता
इमली150जलजीरा70

पानी पुरी बनाने में लगने वाले सभी राॅ मैटेरियन किराना की दुकान पर आसानी से मिल जाएंगे किराना की दुकान से ही सामान खरीदना चाहिए तभी आप सभी सामान कम कीमत पर पाएंगे।

आटा चक्की लगाने का बिजनेस कैसे शुरू करें

पानीपूरी बनाने की विधि (Procedure for making Pani puri)

  • आप गोलगप्पे बनाना नहीं जानते तो यूट्यूब पर तमाम वीडियो देख सकते हैं।
  • सबसे पहले अपनी जरूरत के अनुसार आटा और सूजी के मिक्स करके अच्छे से गूथ लें। 
  • आटा व सूजी के मिश्रण को अच्छे से गूँथ लेने के बाद इसे पानीपूरी बनाने की मशीन मे डाल दें।
  • पानीपूरी बनाने की मशीन से पूरी कट कट के कनवेयर बेल्ट के सहायता से बाहर निकल आता है। 
  • इसके बाद पकाने के लिए खाद्य तेल को मध्यम आंच में गरम करके फ्राई कर लें।
  • इस तरह आपकी पूरी बनकर तैयार हो जाती है।  

एक किलोग्राम आटे में पूरी की संख्या (Number of puris in one kilogram of flour)

साधारणतया 1 किलोग्राम आटा, सूजी या मैदा से लगभग 100 से 120 तक आसानी से पूरी तैयार हो सकती है तो तरह से प्रतिदिन 10000 गोलगप्पे का उत्पादन करना हो तो आपको लगभग एक कुन्टल सूजी या आटें की जरूरत होगी।

साफ सफाई पर विशेष ध्यान दें (Pay special attention to cleanliness)

पानीपूरी का बिजनेस में उत्पादन प्रक्रिया सुरक्षित और साफ़ होनी चाहिए आपको मानक संरक्षण और सुरक्षा के नियमों का पालन करना चाहिए ताकि आपके उत्पाद समुचितता के मानदंडों को पूरा करें सामग्री के प्रबंधन में भी सतर्कता बरतनी चाहिए ताकि आपकी पानीपूरी की गुणवत्ता हमेशा बनी रहे स्वच्छता पर ध्यान देना भी महत्वपूर्ण है ताकि आपके ग्राहक संतुष्ट रहें और आपके व्यवसाय की प्रतिष्ठा बनी रहे।

पानीपूरी की डिमांड और प्राॅफिट (Demand and profit of Panipuri)

पानीपुरी हर वर्ग के लोगों में काफी लोकप्रिय है इसलिए पूरे भारत में उसकी डिमांड हमेशा बनी रहती है क्योंकि यह एक भारतीय फूड है इसके खाना अधिक नुकसानदेह भी नहीं होता है आज से 15 साल पहले पानीपूरी ₹2 का 5 पीस पानीपूरी मिलता था लेकिन आज गांव देहात में लगभग ₹10 में 5 पीस पानीपुरी मिलता है और शहरों में लगभग ₹15 से 20 रूपये में पांच पानीपूरी मिलता है यानि कि 3 से 4 रुपए प्रतिपीस। जबकि पानी पूरी की लागत आधे से भी कम आती है।

इससे पता चलता है कि पानीपूरी का बिजनेस अधिक प्रॉफिटेबल बिजनेस है इसके साथ-साथ पानीपूरी की डिमांड हमारे भारत में काफी अधिक है पानीपुरी को लोग खासकर महिलाऐं बड़े चाव से खाती हैं भले ही इसके लिए लाइन में काफी इंतजार करना पड़े। पानीपुरी का मार्केट आज भी असंगठित है क्योंकि इसमे कोई बड़ा ब्रांड नहीं है जितने भी लोग है वो अपने मार्केट या चौक, चौराहे तक ही सीमित है। ऐसे में अगर आप बिजनेस में रुचि और निवेश की क्षमता रखते हैं तो आपके पास पानीपूरी का एक सदाबहार और प्रॉफिटेबल स्टार्ट अप शुरू करने का मौका है।

मार्केटिंग और प्रचार-प्रसार कैसे करें (How to do marketing and promotion)

पानीपूरी का बिजनेस शुरू कर रहे हैं तो पानीपुरी की उच्च क्वालिटी के साथ मार्केटिंग और प्रचार अत्यंत महत्वपूर्ण हैं इसके साथ साथ आपको अपने व्यवसाय को सफल बनाने के लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे-फेसबुक पेज, व्हाट्सएप ग्रुप भी काफी मददगार साबित हो सकते हैं। आप अपने पानीपूरी को ऑनलाइन प्रमोट करने के लिए निजी वेबसाइट भी बनाकर अपने व्यवसाय का ग्राहक बेस बढ़ा सकते हैं।

इसके अलावा, आप पुराने ग्राहकों का समर्थन प्राप्त करने के लिए विशेष ऑफर्स, डिस्काउंट और आकर्षक पैकेज दे सकते हैं आप आकर्षक उद्धरण, कहानियां और ट्रिक्स का उपयोग करके अपने पानीपूरी को और भी आकर्षक बना सकते हैं और अधिक ग्राहकों को आकर्षित कर सकते हैं।

पानीपूरी का बिजनेस के लिए लाइसेंस और रेजिस्ट्रेशन (License and registration for Panipuri Business )

पानीपूरी का बिजनेस फूड और बेवरेज की श्रेणी में आते है इसलिए अगर आप बड़े स्तर से शुरुआत कर रहें हैं तो आपको अपने बिजनेस के लिए अलग-अलग प्रकार के रेजिस्ट्रेशन और लाइसेंस की आवश्यकता हो सकती है जैसे –

  • उद्योग आधार
  • FSSAI Certificate
  • जीएसटी रजिस्ट्रेशन
  • ट्रेडमार्क लाइसेंस
  • लोकल अथॉरिटी से परमिशन

काॅफी शाॅप का बिजनेस कैसे शुरू करें

पानीपूरी का बिजनेस शुरू करने के लिए निवेश (Investment to start Panipuri business)

पानीपूरी का बिजनेस में लागत की बात करें तो अगर आप अपने हाथों से गोलगप्पा बनाते हैं इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए आपको बहुत अधिक धन की आवश्यकता नहीं पड़ेगी 10*10 रूम का किराया या स्टॉल बनवाने में ₹15,000 से ₹20,000 का निवेश तथा बाकी सामान पर आपको ₹4000 से ₹6000 तक खर्च होगा इस प्रकार मैनुअली पानीपुरी बनाकर पानी पूरी का बिजनेस इंस्टॉल शुरू करने में 25 से ₹30000 की आवश्यकता पड़ सकती है।

पानीपूरी का बिजनेस बड़े स्तर पर मशीन लगाकर होलसेल बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो कुल मिलाकर आपको ₹70,000 से ₹80,000 रुपये का निवेश करना पड़ सकता है जिसमें किराए पर दुकान लेने पर ₹5000 तक खर्च उसके बाद कच्चे माल पर कम से कम 20000 से ₹25000 का खर्च, उसके बाद पानीपूरी मेकिंग मशीन पर लगभग 45000 रूपये का खर्च आ सकता है।

पानीपूरी बनाने वाली मशीन कहाँ मिलेगी (Where to find panipuri making machine)

साधारणतया पानी पूरी बनाने वाली मशीन आपको की नजदीक के बड़े मार्केट में या किसी मशीनरी की दुकान से खरीद सकते है इसके अलावा आप ऑनलाइन ई कॉमर्स वेबसाइट INDIAMART या TRADEINDIA के माध्यम से संपर्क करके खरीद सकते हैं मशीन खरीदते समय क्वालिटी, वारंटी, उत्पादन क्षमता आदि का विशेष ध्यान दें।

पानीपूरी का बिजनेस के लिए लोन कैसे प्राप्त करें (How to get loan for Panipuri business)

अगर आप आर्थिक रूप से कमजोर है तो भी सरकारी योजनाओं के माध्यम से लोन के मदद से पानीपूरी का बिजनेस शुरू कर सकते हैं प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना, प्रधानमंत्री स्वरोजगार योजना जैसे कईं योजनाएं है जहां आप 50000 से 100000 रूपये तक का लोन आसानी से प्राप्त कर सकते हैं अगर आपको 10 लाख रुपये से अधिक का लोन चाहिए तो बैंक से संपर्क करें अन्य कई ऋण योजनाऐं रहती हैं जिनके मदद से आप अधिक रूपये का लोन प्राप्त कर सकते हैं।

तो लोन प्राप्त करने के लिए आप अपने नजदीकी सरकारी व प्राइवेट बैंक में जाकर लोन लेने के लिए बैंक मित्र से मिलकर जानकारी हासिल कर लें और सम्बन्धित बिजनेस का प्रोजेक्ट रिपोर्ट,लाइसेंस एवं अन्य कानूनी कागजात को पुरा कर लें उसके बाद अप्लाई करके लोन प्राप्त कर सकते हैं।

पानी पूरी बिजनेस में सफल होने के सूत्र (Marketing Strategy for Panipuri Business)

आज के समय में हर बिजनेस में कम्पटीशन बहुत अधिक हो गया है इसके बावजूद कई लोग इस बिजनेस को शुरू करके बहुत पैसे कमा रहे हैं पानीपूरी का बिजनेस में सफल होने के लिए आपको कई छोटी छोटी बातों का ध्यान देना होगा जैसे –

  1. यह बिजनेस खाने पीने से संबंधित है इसलिए सबसे पहले साफ-सफाई का अच्छे से ध्यान रखें।।
  2. हमेशा भीड़ भाड़, मार्केट, चौक चौराहा वाले जगह पर ही अपना पानी पूरी का शाॅप लगाएं।
  3. शॉप लगाने के पहले अपने प्रोडक्ट को पहले चखकर चेक कर लें।
  4. सुबह लोग अपने-अपने ऑफिस, स्कूल जाते हैं इसलिए पानी पूरी बनाने से संबंधित कार्य सुबह में ही कर ले।
  5. जिसके बाद आप दोपहर में लंच और शाम के टाइम छुट्टी यह समय पानी पूरी बेचने के लिए एकदम परफेक्ट समय होता है।
  6. शुरुआत में पानी पूरी की संख्या अन्य दुकानदारों के मुकाबले 1-2 अधिक रखें

निष्कर्ष (Conclusion)

उपरोक्त आर्टिकल में हम देख चुके हैं कि पानीपूरी का बिजनेस कैसे कम से कम लागत में शुरू कर सकते है अगर आपके अंदर निवेश की क्षमता और बिजनेस में रुचि रखते हैं तो आप सही लोकेशन पर इस हाई डिमांडिंग बिजनेस को 20000 से ₹250000 लगाकर शुरू करके लगभग 60000 रूपये प्रति माह की अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं इस व्यवसाय की उचित तैयारी, मार्केटिंग और उत्पादन प्रक्रिया के साथ आप अपने व्यवसाय को सफल बना सकते हैं और आगे के विकास की संभावनाओं का लाभ उठा सकते हैं अब आपके मन में इस बिजनेस की ओर जागरूकता होनी चाहिए।

पानीपूरी का बिजनेस से सम्बन्धित प्रश्न (Frequently asked questions)

Q1 एक किलो गूथा आटा में कितना पानी पूरी बनता है?

साधारणतया 1 किलोग्राम आटा, सूजी या मैदा से लगभग 100 से 120 तक आसानी से पूरी तैयार हो सकती है।

Q2 पानीपूरी बनाने वाली मशीन कहाँ मिलेगी?

साधारणतया पानी पूरी बनाने वाली मशीन आपको की नजदीक के बड़े मार्केट में या किसी मशीनरी की दुकान से खरीद सकते है इसके अलावा आप ऑनलाइन ई कॉमर्स वेबसाइट INDIAMART, TRADEINDIA के माध्यम से संपर्क करके खरीद सकते हैं।

Q3 पानीपूरी का बिजनेस शुरू करने के लिए निवेश कितना चाहिए?

पानीपूरी का बिजनेस बड़े स्तर पर मशीन लगाकर होलसेल बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो कुल मिलाकर आपको ₹70,000 से ₹80,000 रुपये का निवेश करना पड़ सकता है जिसमें किराए पर दुकान लेने पर ₹5000 तक खर्च उसके बाद कच्चे माल पर कम से कम 20000 से ₹25000 का खर्च, उसके बाद पानीपूरी मेकिंग मशीन पर लगभग 45000 रूपये का खर्च आ सकता है।

Q4 पानीपूरी बनाने का राॅ मैटेरियल कौन कौन सा लगेगा?

पानीपूरी का बिजनेस में सर्वप्रथम आटा और सूजी दो वस्तुओं का प्रमुखता से प्रयोग किया जाता है आलू, मटर, छोले, प्याज, हरी मिर्च, जलजीरा, इमली, सौंफ, लहसुन, पुदीना, हीेग, नमक, हरी धनिया का पत्ती, दोना पत्तल आदि वस्तुओं का प्रयोग पानीपूरी बनाने में किया जाता है स्वादानुसार एवं प्रोडक्ट की क्वालिटी के अनुसार राॅ मटेरियल अलग अलग हो सकता है।

Q5 पानीपूरी क्या है?

पानीपूरी एक पारंपरिक भारतीय स्ट्रीट फूड है जो मुख्यतः गेहूं के आटे और सूजी के मिश्रण या सिर्फ सूजी को खाद्य तेल में पकाकर बनाया जाता है पानीपूरी को गोलगप्पा, फूचका, फुल्की, गुपचुप, पानी के बतासे और न जाने कितने अलग-अलग क्षेत्रीय नामों से जाना जाता है।

Q6 पानीपूरी के बिजनेस से प्रतिमाह कितनी कमाई हो सकती है?

यह कहना सही नहीं है क्योंकि पानीपुरी के बिजनेस में कमाई आपके लोकेशन, उत्पादन क्षमता, और प्रोडक्ट की क्वालिटी पर निर्भर करता है वैसे इस बिजनेस से प्रतिमाह 50000 से ₹60000 तक की कमाई आराम से किया जा सकता है।

इन्हे भी पढे़-

हमारे द्वारा लिखा गया यह महत्वपूर्ण बिजनेस लेख फेमस पानीपूरी का बिजनेस कैसे शुरू करें लागत प्रक्रिया लाभ संपूर्ण जानकारी | Best business idea in Hindi 2023 पसंद आया होगा यदि आपका इससे जुड़ा कोई सवाल या सुझाव है तो हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं ब्लाग पर समय देने के लिए धन्यवाद इस जानकारी को आगे शेयर जरूर करें।

Leave a Comment