धूपबत्ती बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें | Dhoopbatti making best business idea in Hindi 2024

धूपबत्ती बनाने का बिजनेस :हमारा भारत देश एक आध्यात्मिक देश है और हिंदू धर्म प्रधान देश है हिंदू धर्म में मंदिर एवं पूजा का विशेष महत्व है भारत में सबसे अधिक मंदिर है और इन मंदिरों में प्रतिदिन विधि विधान से पूजा, अर्चना, यज्ञ, हवन आदि होता है इन सभी धार्मिक अनुष्ठानों को करने के लिए बड़े मात्रा में धूपबत्ती की आवश्यकता होती है धूपबत्ती मन्दिर या घर में जलाया जाता है जिसके जलाने से वातावरण शुद्ध एवं प्राकृतिक और सुगंधित होता है और नकारात्मकता दूर होती है जिस कारण धुप बत्ती की डिमांड हमेशा बनी रहती है।

Hindi Business Ideas Join Now
Hindi Business Ideas Join Now

तो आइये इस आर्टिकल के माध्यम से जानते है कि धूपबत्ती बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें | Dhoopbatti making best business idea in Hindi 2024 और इस बिजनेस से सम्बंधित सभी फैक्टर का जैसे लाभ, निवेश, प्रोसेस, रॉ मैटेरियल, मशीन आदि सभी फैक्टर का विस्तार से अध्ययन करते हैं।

होम पेज पर जाने के यहाँ क्लिक करें

Table of Contents

मार्केट रिसर्च एवं बिजनेस प्लान (Business Plan) 

आप कोई भी बिजनेस शुरू कर रहे हैं तो सबसे पहले आप उस बिजनेस के इंडस्ट्री के बारे में समस्त जानकारी हासिल कर लें क्योंकि किसी भी बिजनेस को शुरू करने से पहले आप शारीरिक मानसिक एवं आर्थिक रूप से व्यवस्थित हो जाए तभी बिजनेस की योजना बनाये धूपबत्ती इंडस्ट्री में पहले से ही बड़ी-बड़ी कंपनियों ने निवेश कर रखा है धूपबत्ती बनाने का बिजनेस से संबंधित समस्त बातों का गहनता से क्रियान्वयन करें उनका पहले ही योजना बनाकर रखें।

धूपबत्ती क्या है (What is Dhopbatti)

धूपबत्ती एक छोटा शंकु या मोटी बत्ती के आकार का काला या भूरे रंग का चिपचिपा पेस्ट होता है. धूपबत्ती को धूप के पेड़ों के अर्क से तैयार किया जाता है जिसे क्रमशः बवेरिया इंडिका एवं कैनेडा सैटम के नाम से जाना जाता है बवेरिया इंडिका से ‘शक’ एवं कैनेडा सैटम से ‘आला’ अर्क को उसी तरह से निकाला जाता है जिस तरह रबर के अर्क को रबर के पेड़ों से निकाला जाता है और इसमें जडी बुटी, आवश्यकतानुसार इत्र एवं अन्य पाउडर मिला कर तैयार किया जाता है।

धूपबत्ती के बिजनेस का भविष्य (Business Future and Scope)

कि धूपबत्ती बनाने के बिजनेस के फ्यूचर की बात करें तो धूपबत्ती बिजनेस का फ्यूचर कम होने वाला नहीं है भारत धार्मिक परम्पराओ में मान्यता रखने वाला देश है यहाँ पर धूपबत्ती सभी धर्म के लोगों द्वारा इस्तेमाल किया जाता है धूपबत्ती लोगों को धर्म और आस्था से जोड़ने का काम करता है भारत में अगरबत्ती का निर्यात भी बहुत तेजी से बढ़ रहा है।

धूपबत्ती बनाने का बिजनेस के लिए जगह (Requirement Area)

धूपबत्ती बनाने का बिजनेस शुरू करने के लिए आपको घर से भी या बिजनेस शुरू कर दे सकते हैं लेकिन अगर आप बड़े स्तर पर इसको लगाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको 1000 – 1500 स्क्वायर फीट का खुला मकान होना चाहिए मकान सड़क से जुड़ा हुआ बिजली और पानी के साथ मजदूर पर्याप्त रूप में मौजूद हो I

धूपबत्ती बनाने के लिए मैनपावर (Man Power)

धूपबत्ती बनाने का बिजनेस शुरू करने के लिए कम से कम एक कारीगर जो इस प्रकार के बिजनेस का अच्छा अनुभव रखता हो और दो हेल्पर कारीगर इसके अलावा अगर आप स्वयं मार्केटिंग करते हैं तो नहीं तो एक से दो आदमी मार्केटिंग करने के लिए चाहिए. कुल मिलाकर इस बिजनेस में 4 से 5 आदमी की आवश्यकता होती है।

धूपबत्ती बनाने के लिए बिद्युत सप्लाई (Electricity Powar)

धूपबत्ती बनाने का बिजनेस छोटे स्टार पर घर से शुरू करने के लिए आप घरेलु बिजली का सहारा ले सकते हैं जिसमें आपको अलग से कोई कनेक्शन लेने की आवश्यकता नहीं है।

लेकिन अगर बड़े स्तर पर धूपबत्ती बनाने का बिजनेस शुरू कर रहे है तो सभी प्रकार की मशीनों को संचलित करने के लिए 4 से 5 किलोवाट विद्युत आपूर्ति की आवश्यकता होती है।

धूपबत्ती बनाने के लिए कच्चामाल (Raw Material)

धूपबत्ती बनाने का बिजनेस शुरू करने से पहले आप यहां जांच कर लें कि मार्केट में धूपबत्ती बनाने के लिए कच्चा माल आपको आसानी से उपलब्ध हो सकता है धूपबत्ती बनाने के लिए निम्नलिखित कच्चा माल की जरूरत होती हैं जो यह सभी कच्चा माल आपको नजदीक के बड़े शहर में एवं आनलाइन ई-कॉमर्स वेबसाइट ऊपर उचित रेट दर पर मिल जाएगा।

  • धूप की लकड़ी का पाउडर
  • चंदन की लकड़ी का पाउडर 
  • कास्कालिया पाउडर 
  • जिगत पाउडर 
  • चारकोल पाउडर 
  • परफ्यूम 
  • गुग्गल 
  • लकड़ी का बुरादा, यूकेलिप्टस और तेज पत्ते की पत्तियां 
  • डाइथाइल फोर्थवेट आयल 
  • प्लास्टिसाइजर 
  • प्रिजर्वेटिव 
  • गाउटनट सेल
  • पैकेजिंग बाक्स

धूपबत्ती बनाने की मशीन (Requirement Machine’s)

  • रोलर मिल मशीन 
  • लीब्स कटिंग मशीन
  • पाउडर मिक्सिंग मशीन
  • एज रनर मशीन
  • पल्बराइजर
  • आयल टैंक
  • पैकिंग मशीन

धूपबत्ती बनाने की मशीन कहाँ से खरीदें

धूपबत्ती बनाने के लिए कई तरह की मशीनों और कच्चामाल का उपयोग किया जाता है और यह सभी मशीनें और कच्चामाल आपको नजदीक के बड़े मार्केट में उचित रेट पर मिल जायेंगी इसके अलावा आनलाइन ई-कामर्स वेबसाइट INDIAMART या TRADEINDIA के माध्यम से खरीद सकते है I

धूपबत्ती बिजनेस के लिए आवश्यक लाइसेंस (Requirement licence)

धूपबत्ती बनाने का बिजनेस छोटे स्टार पर कर रहे हैं तो किसी लाइसेंस रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता नहीं होती लेकिन अगर बड़े स्तर पर बिजनेस को कर रहे हैं तो कुछ निम्न रजिस्ट्रेशन एवं लाइसेंस की आवश्यकता पड़ सकती है।

  • कंपनी का रजिस्ट्रेशन 
  • जीएसटी 
  • कंपनी का बैंक खाता
  • कंपनी का ट्रेडमार्क
  • उद्योग का रजिस्ट्रेशन 
  • स्थानीय प्राधिकारी से NOC

धूपबत्ती बनाने की प्रक्रिया (Making Prosess)

धूपबत्ती को बनाने के लिए सबसे पहले तुलसी का पत्ता यूकेलिप्टस का पत्ता और तेज पत्तों को महीन काट लें और सुखा दें सुखाने के बाद पीसकर चूर्ण बना लें उसके बाद उसमें गूग्गल, केसरिया, जिगत पाउडर,डाइथाइल फोर्थवेट आयल आदि पाउडर को आपस में अच्छे से मिक्सिंग मशीन से मिक्स कर लें अब धूप बत्ती बनाने के लिए धूप की लकड़ी, चारकोल पाउडर आदि को मिलाकर इसके बाद इसमें आवश्यकतानुसार परफ्यूम और प्लास्टिसाइजर को एज रनर मशीन में डालकर चिपचिपा पेस्ट में बदल लिया जाता है।और आवश्यकतानुसार साइज को कटिंग कर लिया जाता है और उसके बाद पैकेजिंग बॉक्स में पैक कर दिया जाता है।

धूपबत्ती को कहाँ बेंचे (Dhopbatti Marketing)

धूपबत्ती सामान्य पूजा -पाठ के उपयोग में लाई जाती है इससे मंदिर ,चर्च अन्य धार्मिक अनुष्ठान, बाजार, किराने के थोक एवं फुटकर किराना की दुकानों पर पूजा सामग्री की दुकान पर बेच सकते हैं धूपबत्ती को आप ऑनलाइन ई-कामर्स वेबसाइट INDIAMART, या TRADEINDIA (BTB) flipcart Amazon (BTC) के माध्यम से भी बेच सकते हैं।

धूपबत्ती बनाने का बिजनेस शुरू करने में कुल लागत (Total Investment)

धूपबत्ती बनाने का बिजनेस शुरू करने के लिए कम से कम लागत की बात करें तो इस बिजनेस को आप ₹250000- ₹300000 लगाकर शुरू कर सकते हैं और जैसे-जैसे आप का बिज़नेस आगे बढ़ेगा वैसे-वैसे आप इसको धीरे-धीरे बढ़ाएं।

अगर आप और कम लागत में शुरू करना चाहते हैं तो इसके लिए आप अपने घर से ही कम खर्च में घरेलू तरीके से धूपबत्ती बनाने का बिजनेस को शुरू कर सकते हैं।छोटे स्तर पर आप गांव में या अर्ध नगरीय क्षेत्र में कहीं से भी कम लागत में छोटी मशीन या हैड़मेड धूपबत्ती बनाकर शुरू कर सकते है।

धूपबत्ती बिजनेस की जरुरी बातें (Important Thinks)

  • धूपबत्ती बनाने का बिजनेस को शुरू करने से पहले डिमांड और खपत के अनुसार बिजनेस प्लान बना लें और मार्केट रिसर्च कर लें तभी बिजनेस में हाथ डालें।
  • ग्राहकों के साथ हमेशा अच्छा व्यवहार करें और ग्राहकों को अच्छी सुविधा दें जिससे कि आपके ग्राहक हमेशा आपसे खुश रहें।
  • आप अपने प्रोडक्ट की कीमत शुरू में थोड़ा सा कम ही रखें और प्रोडक्ट की क्वालिटी को हमेशा मेंटेन रखने की कोशिश करें।
  • धूपबत्ती बनाने के लिए कच्चामाल अच्छी क्वालिटी वाला खरीदें जिससे आप का मैदा भी अच्छी क्वालिटी का बने जिससे आपके ब्रांड का नाम खराब ना हो।
  • धूपबत्ती बनाने के बाद उसे अधिक समय तक स्टोर करके ना रखें पैकिंग के बाद जल्दी से जल्दी मार्केट में सप्लाई करने की कोशिश करें।
  • धूपबत्ती के पैकेट को आकर्षक और डिजाइनदार बनवाएं और उसमें धूपबत्ती डालकर वजन और काउन्टिंग सही से करें ना कम करे ना ज्यादा करें।

निष्कर्ष (Conclusion)

धूपबत्ती बनाने का बिजनेस सदाबहार बिजनेस है धूपबत्ती की डिमांड शहर हो या गांव हो धूपबत्ती घरेलू उपयोग जैसे- पूजा प्रार्थना हवन किया जाता है इस बिजनेस को कोई भी कम पढा लिखा व्यक्ति भी शुरू कर सकता है छोटे स्तर पर आप गांव में या अर्ध नगरीय क्षेत्र में कहीं से भी कम लागत में छोटी मशीन या हैड़मेड धूपबत्ती बनाकर शुरू कर सकते है या आपके पास बड़े निवेश की क्षमता है तो बड़ा सेटअप लगाकर भी शुरू कर सकते है।

FAQ (Frequently Asked Questions)

Q1 धूपबत्ती को कहाँ बेंचे?

धूपबत्ती को मंदिर ,चर्च अन्य धार्मिक अनुष्ठान, बाजार, किराने के थोक एवं फुटकर किराना की दुकानों पर पूजा सामग्री की दुकान पर बेच सकते हैं धूपबत्ती को आप ऑनलाइन ई-कामर्स वेबसाइट INDIAMART, या TRADEINDIA (BTB) और flipcart, Amazon (BTC) के माध्यम से भी बेच सकते हैं।

Q2 धूपबत्ती बनाने की मशीन कहाँ से खरीदें?

धूपबत्ती बनाने का बिजनेस शुरू करने के लिए कई तरह की मशीनों का उपयोग किया जाता है और यह सभी मशीनें आपको नजदीक के बड़े मार्केट में उचित रेट पर मिल जायेंगी इसके अलावा आनलाइन ई-कामर्स वेबसाइट INDIAMART या TRADEINDIA के माध्यम से खरीद सकते है I

Q3 धूपबत्ती बनाने का बिजनेस के लिए रजिस्ट्रेशन एवं लाइसेंस की आवश्यकता पड़ती है?

धूपबत्ती बनाने का बिजनेस छोटे स्टार पर कर रहे हैं तो किसी लाइसेंस रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता नहीं होती लेकिन अगर बड़े स्तर पर बिजनेस को कर रहे हैं तो कुछ निम्न रजिस्ट्रेशन एवं लाइसेंस की आवश्यकता पड़ सकती है।
1. कंपनी का रजिस्ट्रेशन, 2. जीएसटी, 3. कंपनी का बैंक खाता, 4. कंपनी का ट्रेडमार्क, 5. उद्योग का रजिस्ट्रेशन, 6. स्थानीय प्राधिकारी से NOC

Q4 धूपबत्ती का होलसेल प्राइस क्या है?

धूपबत्ती का होलसेल प्राइस कहीं पर फिक्स नहीं होता है यह अलग-अलग जगहों पर आपको अलग-अलग रेट पर मिलेगा।

Q5 धूपबत्ती बनाने की मशीन कौन कौन सी है?

1. रोलर मिल मशीन, 2. लीब्स कटिंग मशीन, 3. पाउडर मिक्सिंग मशीन, 4. एज रनर मशीन, 5. पल्बराइजर, 6. आयल टैंक, 7. पैकिंग मशीन ।

Q6 धूपबत्ती क्या है?

धूपबत्ती एक छोटा शंकु या मोटी बत्ती के आकार का काला या भूरे रंग का चिपचिपा पेस्ट होता है. धूपबत्ती को धूप के पेड़ों के अर्क से तैयार किया जाता है जिसे क्रमशः बवेरिया इंडिका एवं कैनेडा सैटम के नाम से जाना जाता है बवेरिया इंडिका से ‘शक’ एवं कैनेडा सैटम से ‘आला’ अर्क को उसी तरह से निकाला जाता है जिस तरह रबर के अर्क को रबर के पेड़ों से निकाला जाता है और इसमें जडी बुटी, आवश्यकतानुसार इत्र एवं अन्य पाउडर मिला कर तैयार किया जाता है।

Q7 धूपबत्ती बनाने के लिए कच्चामाल कौन कौन सा लगता है?

1. धूप की लकड़ी का पाउडर, 2. चंदन की लकड़ी का पाउडर, 3. कास्कालिया पाउडर, 4. जिगत पाउडर, 5. चारकोल पाउडर, 6. परफ्यूम, 7. गुग्गल, 8. लकड़ी का बुरादा, 9. यूकेलिप्टस और तेज पत्ते की पत्तियां, 10. डाइथाइल फोर्थवेट आयल, 11. प्लास्टिसाइजर, 12. प्रिजर्वेटिव, 13. गाउटनट सेल, 14. पैकेजिंग बाक्स

Q8 धूपबत्ती बनाने का कच्चामाल कहाँ मिलता है?

धूपबत्ती बनाने के लिए कच्चा माल आपको लोकल मार्केट में या नजदीक के बड़े शहर में मिल जाएगा अन्यथा ऑनलाइन ई-कामर्स वेबसाइट के माध्यम से भी संपर्क करके खरीद सकते हैं।


दोस्तों हम उम्मीद करते हैं कि आपको हमारे द्वारा लिखा गया है यह महत्वपूर्ण रोजगार लेख धूपबत्ती बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें (dhoopbatti Making best Business idea in Hindi 2024) पसंद आया होगा। यदि आपका इससे जुड़ा कोई सवाल या सुझाव है तो हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। इस जानकारी को आगे शेयर जरूर करें।

Leave a Comment