झोला बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें | लागत, मशीन, प्रक्रिया, मुनाफा सम्पूर्ण जानकारी | Best Business Idea in Hindi 2024

झोला बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें:- दोस्तों हम लोग प्रतिदिन अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए मार्केट में शापिंग के लिए जाते हैं  जिससे हमारी जरूरतें पूरी होती है हम लोग शापिंग के लिए झोला का प्रयोग करते हैं बिना झोला के मार्केटिंग करने मे बहुत असुविधा होती है यह आपको हर मार्केट में आसानी से कम कीमत पर उपलब्ध मिलता है यह आपको मार्केट में कई प्रकार के मिल जायेगें जैसे- जूट का झोला, कपड़े का झोला, प्लास्टिक बोरी का झोला, पेपर कैरी बैग, नान-ओवन कैरी बैग आदि आप जरूरत के हिसाब से झोले, बैग एवं कैरी बैग का उपयोग करते हैं।

Hindi Business Ideas Join Now
Hindi Business Ideas Join Now

झोला का डिमांड मार्किट में हमेशा बहुत ज्यादा रहता है यह सस्ते, कलर फुल एवं आकर्षक होते हैं इनको बनाना बहुत आसान होता है और इको फ्रेन्डली होते हैं इसलिए सरकार भी ऐसेे उद्योग को बढ़ावा देती है झोला बनाने का बिजनेस एक ऐसा बिज़नेस है जो आप अपने घर से आराम से कर सकते हैं इसमें ज्यादा निवेश की जररूत नहीं पड़ती है और बेचने के लिए भी ज्यादा मार्केटिंग की आवश्यकता नहीं होती केवल आपको बिज़नेस शुरू करना है और बिज़नेस अपने आप चलने लगेगा ऐसे में अगर आपके पास बिजनेस की कला, रूचि और क्षमता है तो झोला बनाने का बिजनेस शुरू कर सकते हैं।

तो आइये इस आर्टिकल के माध्यम से जानते है कि ‘कपड़ा’ से झोला बनाने और ‘प्लास्टिक बोरी’ से झोला बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें How to Start Jhola Making Business in Hindi और इस बिजनेस से सम्बंधित सभी फैक्टर का जैसे लाभ, निवेश, प्रोसेस, रॉ मैटेरियल, मशीन आदि सभी फैक्टर का विस्तार से अध्ययन करते हैं।

होम पेज पर जाने के यहाँ क्लिक करें

बिजनेस प्लान तैयार करें (Business Plan)

झोला बनाना बेहद आसान कार्य है इसे घर के सदस्य मिल कर बना सकते हैं अगर आप छोटे लेबल पर इसको घर से बनाना शुरू करना चाहते हैं तो बिना किसी खास प्लानिंग के कभी भी शुरू कर सकते हैं लेकिन आप बडे़ लेबल पर कर रहे हैं तो कुछ बातों जैसे- आपके एरिया में पहले से झोला बनाने का बिजनेस करने वाले कितने लोग है उनके प्रोडक्ट की क्वालिटी कैसी है वहाँ किस तरह के डिजाइन चल रहें है कितने प्रकार के डिजाइन बनते हैं और झोला बनाने का कच्चामाल कहाँ से लाना पडे़गा बिजनेस में मार्जिन कितना आयेगा पूरा पेपर प्लानिंग करने के बाद ही बिजनेस शुरू करें।

झोले का उपयोग एवं डिमांड (Product use and Demand)

झोले का उपयोग हम ज्यादा मार्केट में खरीदारी के लिए करते हैं इसका उपयोग सब्जी, फल, कपड़ा, इलेक्ट्रॉनिक, हार्डवेयर, अन्य फूड्स आइटम एवं कोई भी हल्के से लेकर हैवी वस्तुओं को रख कर कहीं भी ला या ले जा सकते हैं यह कैरी बैग से काफी मजबूत होते हैं और जल्दी खराब नहीं होते हैं इसलिए इसकी डिमांड सभी प्रकार के मार्केट में अधिक रहती हैं।

यह मार्केट के हिसाब से कई साइज के मिलते हैं छोटा, मध्यम और बड़ा तथा अलग अलग क्वालिटी के भी होते हैं जिनका मूल्य भी अलग-अलग होता है झोला भी अलग अलग वस्तुओं की सुरक्षा के लिए बनाए जाते हैं उपयोग के आधार पर कई प्रकार के झोले बनाये जा सकते हैं।

  • कपड़ा का बैग
  • प्लास्टिक बोरी का बैग
  • जूट का बैग
  • पेपर का बैग या पेपर कैरी बैग
  • नान-ओवन कैरी बैग

इस आर्टिकल में हम आपको ‘कपड़ा’ से बनने वाला झोला और प्लास्टिक बोरी का झोला बनाने का बिजनेस कैसे करें इसके बारे में बतायेंगे तथा जूट का बैग, पेपर कैरी बैग, नान ओवन कैरी बैग बनाने का बिजनेस के बारे में नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें।

झोला बनाने की मशीन (Jhola making business)

झोला बनाने का बिजनेस शुरू करने के लिए आपको किसी खास मशीन की आवश्यकता नहीं है अगर आप के घर में अच्छी क्वालिटी का सिलाई है तो बड़े आसानी से झोला सिलाई का काम कर सकते हैं अगर कोई मशीन नहीं है और नयी मशीन लेकर व्यापार शुरू करना चाहते हैं तो आप अच्छी क्वालिटी का फुल आटोमेटिक मशीन मार्केट से खरीद सकते हैं जिसकी कीमत लगभग ₹10000-₹12000 तक हो सकती है मशीन की क्वालिटी के हिसाब से मूल्य कम या ज्यादा हो सकता है।

फर्नीचर बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें

झोला बनाने का रॉ मैटेरियल (Jhola making raw material)

झोला बनाने के लिए मुख्यतः तीन प्रकार के रॉ मैटेरियल की जरूरत पड़ती हैं यह सभी रॉ मैटेरियल आपको मार्केट में आसानी से मिल जायेगें। आनलाइन ई-कामर्स वेबसाइटों INDIAMART या TRADEINDIA की मदद से सम्पर्क करके खरीद सकते हैं।

  • प्लास्टिक बोरी या प्लास्टिक रोल या कपड़ा
  • Ribbon handle या पट्टी
  • धागा

झोला बनाने की प्रक्रिया (Jhola making process)

झोला बनाना बहुत आसान है कोई भी व्यक्ति जिसको सिलाई मशीन चलाना आता हो वह बिना किसी अनुभव के थोड़ा सा दिमाग लगा कर नीचे दिए गए प्रक्रिया के माध्यम से झोला बनाने का बिजनेस शुरू कर सकता है।

  • झोला बनाने के लिए कपड़ा को या प्लास्टिक बोरी के रोल को झोला के साइज का काट लें।
  • उसके बाद लम्बाई वाले दोनों छोर को एक इंच मोड कर सिलाई कर दें।
  • उसके बाद लम्बाई वाले दोनों छोर जिसको मोड़ कर सिलाई कर दिये है उसके बीच में दोनों तरफ फीते का हैन्डल लगा दें।
  • और झोले के आकार देने के लिए बीच से मोड़ कर दोनों छोर के हैन्डल को एक तरफ करके हैन्डल की तरफ छोड़ कर तीन तरफ से सिलाई कर दें अब आपका झोला तैयार है।

झोला बनाकर कहाँ बेच सकते है (Jhola marketing)

झोला बनाने का बिजनेस में झोला बनाने के बाद इसे बेचने के लिए आप मार्केट में थोक और फुटकर दोनों तरह से बेच सकते हैं आपको दोनों तरह के ग्राहकों को स्वयं तलाश करना होगा किसी भी थोक एवं फुटकर दुकानों पर जैसे- किराना की दुकान पर, हार्डवेयर की दुकान पर, किताब कापी की दुकान पर, बेकरी की दुकान पर, मिठाई की दुकान पर, कपड़े की दुकान पर, सब्जी की दुकान पर आदि ऐसे दुकानों पर सम्पर्क कर सकते हैं।

झोला बनाने के बाद इसे बेचने के लिए आनलाइन ई-कामर्स वेबसाइटों की मदद से रजिस्ट्रेशन करके बेच सकते हैं।

झोला बनाने का बिजनेस में मुनाफा (Profit in Jhola making business)

झोला बनाने का बिजनेस में आप निश्चित तौर पर अच्छा लाभ कमा सकते हैं यह बिजनेस एक ऐसा बिजनेस है जिसका हर व्यक्ति द्वारा बराबर इस्तेमाल किया जाता है हम जब भी बाजार में कोई वस्तु खरीदने जाते हैं तो बिना झोला के किसी भी व्यक्ति का काम नहीं चलता और इस प्रकार इसकी डिमांड मार्केट में बहुत ज्यादा रहती है।

झोला बनाने की लागत तीन से चार रुपए आती है जबकि यह थोक मार्केट में 8 से ₹10 के करीब और फुटकर मार्केट में 12 से ₹15 के करीब प्रति झोला मिलता है यानी कि इस बिजनेस को आप शुरू करते है तो 50 से 60% का लाभ फुटकर में बेचकर तथा अगर आप होलसेल में बेचते हैं तो 30 से 40% का लाभ आसानी से कमा सकते हैं।

झोला बिजनेस के लिए कौन सा लाइसेंस लगता है (Licence)

झोला बनाने का बिजनेस लघु उद्योग के अन्तर्गत आता है इसे छोटे लेवल पर अपने घर पर शुरू करने के लिए आपको किसी लाइसेंस या रजिस्ट्रेशन की जरूरत नहीं पड़ती लेकिन सम्बंधित लोकल अथॉरिटी से एनओसी प्राप्त कर ले तो अच्छा है अगर बहुत बड़ी मात्रा में आप उत्पादन करते हैं तो निम्नलिखित रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता पड़ सकती है।

  • MSME रजिस्ट्रेशन या आधार उद्योग
  • जीएसटी रजिस्ट्रेशन
  • पैनकार्ड
  • एन ओ सी

झोला बिजनेस में कुल लागत (total Investment)

झोला बनाने का बिजनेस अगर घर से शुरू कर रहे हैं तो अच्छे क्वालिटी की सिलाई मशीन, कैची, मेज, आदि मिलाकर ₹10000-12000 में साधारण मशीन ₹15000-20000 में आटोमेटिक मशीन लगाकर यह बिजनेस शुरू कर सकते हैं अब जितना आप के प्रोडक्ट की डिमांड बढेगी उतना आपको मशीन और सिलाई, कटाई के लिए आदमी भी बढाने पडेंगे उतना आपकी लागत भी बढती जायेगी।

निष्कर्ष (Conclusion)

झोला बनाने का बिजनेस एक घरेलू उद्योग के अन्तर्गत आता हैअगर आप यह बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो बहुत कम निवेश करके कोई भी इस बिजनेस शुरू कर सकता हैं इसकी डिमांड कभी कम होने वाली नहीं है क्योंकि झोला सभी तरह के मार्केट में उपयोग होता है और होता रहेगा बस आपको यह प्रोडक्ट बनाकर मार्केट में ले जाना है।

झोला बनाने का बिजनेस से सम्बन्धित FAQ (Frequently Asked Questions)

Q1 झोला बनाकर कहाँ बेच सकते है?

झोला बनाने का बिजनेस में झोला बनाने के बाद इसे बेचने के लिए आप मार्केट में थोक और फुटकर दोनों तरह से बेच सकते हैं आपको दोनों तरह के ग्राहकों को स्वयं तलाश करना होगा किसी भी थोक एवं फुटकर दुकानों पर जैसे- किराना की दुकान पर, हार्डवेयर की दुकान पर, किताब कापी की दुकान पर, बेकरी की दुकान पर, मिठाई की दुकान पर, कपड़े की दुकान पर, सब्जी की दुकान पर आदि ऐसे दुकानों पर सम्पर्क कर सकते हैं
आप इसे बेचने के लिए आनलाइन ई-कामर्स वेबसाइटों की मदद से रजिस्ट्रेशन करके बेच सकते हैं।
INDIAMART , TRADEINDIA , flipcart, Amazon

Q2 झोला बनाने का बिजनेस में कितना मुनाफा हो सकता है?

झोला बनाने की लागत तीन से चार रुपए आती है जबकि यह थोक मार्केट में 8 से ₹10 के करीब और फुटकर मार्केट में 12 से ₹15 के करीब प्रति झोला मिलता है यानी कि इस बिजनेस को आप शुरू करते है तो 50 से 60% का लाभ फुटकर में बेचकर तथा अगर आप होलसेल में बेचते हैं तो 30 से 40% का लाभ आसानी से कमा सकते हैं।

Q3 झोला बिजनेस के लिए कौन सा लाइसेंस लगता है?

झोला बनाने का बिजनेस लघु उद्योग के अन्तर्गत आता है इसे छोटे लेवल पर अपने घर पर शुरू करने के लिए आपको किसी लाइसेंस या रजिस्ट्रेशन की जरूरत नहीं पड़ती लेकिन सम्बंधित लोकल अथॉरिटी से एनओसी प्राप्त कर ले तो अच्छा है अगर बहुत बड़ी मात्रा में आप उत्पादन करते हैं तो निम्नलिखित रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता पड़ सकती है।
MSME रजिस्ट्रेशन या आधार उद्योग, जीएसटी रजिस्ट्रेशन, पैनकार्ड, लोकल अथॉरिटी से एन ओ सी

Q4 झोला कैसे बनाया जाता है?

1.झोला बनाने के लिए कपड़ा को या प्लास्टिक बोरी के रोल को झोला के साइज का काट लें।
2.उसके बाद लम्बाई वाले दोनों छोर को एक इंच मोड कर सिलाई कर दें।
3.उसके बाद लम्बाई वाले दोनों छोर जिसको मोड़ कर सिलाई कर दिये है उसके बीच में दोनों तरफ फीते का हैन्डल लगा दें।
4.झोले के आकार देने के लिए बीच से मोड़ कर दोनों छोर के हैन्डल को एक तरफ करके हैन्डल की तरफ छोड़ कर तीन तरफ से सिलाई कर दें अब आपका झोला तैयार है।

यह भी पढे़ं

दोस्तों हम उम्मीद करते हैं कि आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह महत्वपूर्ण रोजगार लेख झोला बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें लागत, मशीन, प्रक्रिया, मुनाफा सम्पूर्ण जानकारी (Best Business Idea in Hindi 2024) पसंद आया होगा यदि आपका इससे जुड़ा कोई सवाल या सुझाव है तो हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं इस जानकारी को आगे शेयर जरूर करें।

धन्यबाद, आपका दिन शुभ हो

Leave a Comment