कील बनाने का बिजनेस 2023 कैसे शुरू करें लागत प्रकिया मशीन मुनाफा सम्पूर्ण जानकारी | Wair nail making business in hindi

कील बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें – दोस्तों हम लोग अपने घरों में फर्नीचर का इस्तेमाल तो करते ही होंगे जिसकी हर घर में हमेशा डिमांड रहती है लकड़ी का फर्नीचर बनाने के लिए बहुत सारी प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष वस्तुओं का इस्तेमाल होता है जैसे लकड़ी, फेविकोल, पेंट एवं कील आदि आता है लेकिन फर्नीचर बनाने में लकड़ी के बाद लोहे की कील को सबसे अधिक प्रयोग किया जाता है जो फर्नीचर को मजबूती प्रदान करता है बिना कील के फर्नीचर तैयार नहीं होता है फर्नीचर के अलावा कंश्ट्रक्सन के काम में कील का उपयोग किया जाता है।

Hindi Business Ideas Join Now
Hindi Business Ideas Join Now

ऐसे में कील बनाने का बिजनेस बहुत लाभदायक हो सकता है यह एक सदाबहार बिजनेस है वर्तमान के साथ भविष्य में भी इसका उपयोग कभी कम होने वाला नहीं है तो चलिए इस आर्टिकल के माध्यम से यह जानकारी करने की कोशिश करते हैं कि कील बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें इस बिजनेस को शुरू करने के लिए कौन सी मशीन, रॉ मैटेरियल, प्रक्रिया, लागत, लाभ, मार्केटिंग इत्यादि की जरूरत पडेगी इस बिजनेस से संबंधित सभी बातों का अध्ययन करते हैं।

होम पेज पर जाने के यहाँ क्लिक करें

Table of Contents

कील क्या है कहाँ उपयोग किया जाता है (What is wire nail and uses )

कील ‘लोहे के तार’ का बना विशेष साइज का एक तरफ नुकीला और एक तरफ टोपी नुमा आकार का प्रोडक्ट होता है जिसे वायरनेल (wire nail) कहते हैं इसका उपयोग सभी तरह के फर्नीचर बनाने और कंस्ट्रक्शन के काम में किया जाता है इसका उपयोग लकड़ी को जोड़ने और फर्नीचर को मजबूत बनाने के लिए किया जाता है कंस्ट्रक्शन के काम में इसका उपयोग किया जाता है इसके अलावा अन्य बहुत से कार्यों में भी कील (वायर नेल) का उपयोग किया जाता है।

कील की साइज़ (Wirenail size)

कील के साइज की बात करें तो यहां 0.5, 01, 1.5, 2, 2.5, 3, 3.5, 4 तक के कील बनाए जाते हैं यह आपके मशीन के ऊपर डिपेंड करता है कि आपका मशीन किन-किन साइज का कील तैयार कर सकता है कील अलग-अलग जगहों एवं उद्देश्य के लिए उपयोग किया जाता है सबसे ज्यादा 1 इंच से लेकर 3 इंच तक के कील का उपयोग किया जाता है।

इसके अलावा एक किलो तार में कितना कील बनता है या फिक्स नहीं है क्योंकि अलग-अलग कील बनाने के लिए अलग-अलग साइज के तार आते हैं और उनका वजन भी अलग-अलग होता है वैसे कील बनने में तार का नुक्सान(वेस्ट) नहीं बहुत कम होता है।

मार्केट रिसर्च करके बिजनेस प्लान तैयार करें (Market analysis and Business plan )

कील बनाने का बिजनेस शुरू करने के लिए कितने एरिया की आवश्यकता है कौन-कौन सी मशीनें लगेंगी कितने वर्कर्स की आवश्यकता होगी रॉ मटेरियल कहां मिलेगा कितना लाभ हो सकता है आदि बहुत सारी बातों का विश्लेष्ण बिजनेस शुरू करने से पहले कर लें जिस एरिया में कील का बिजनेस शुरू करेगें वहां कील की डिमांड और सप्लाई कितनी होती है और आपके क्षेत्र में आसपास कितने लोग इस उद्योग को कर रहे हैं उपरोक्त बातों की जानकारी करना आपके बिजनेस को आगे बढ़ाने में लाभदायक होगा।

सही लोकेशन कैसे चुनें (Plant location)

कील बनाने का बिजनेस करने के लिए सही लोकेशन का होना आवश्यक है जिससे किसी भी मौसम में प्लांट को संचालित करने में कोई दिक्कत ना हो। कोशिश करें कि आपका प्लांट इंडस्ट्रियल एरिया में बिजनेस से संबंधित सभी तथ्‍य एवं परिस्थितियां अनुकूल होती हैं अगर इंडस्ट्रियल एरिया में नहीं है तो कील बनाने का प्लांट खुद का या किराए का जगह हो लेकिन पक्की सड़क पर होना चाहिए जहां किसी भी मौसम में ट्रांसपोर्ट करने में आसानी हो तथा उस एरिया में विद्युत की सप्लाई ठीक-ठाक होनी चाहिए।

बिजनेस के लिए जगह (Requirement Area)

कील बनाने का बिजनेस घर से 10×20 के कमरे में एक मशीन लगाकर शुरू कर सकते हैं लेकिन बड़े लेवल पर प्लांट शुरू करने के लिए थोड़े अधिक एरिया की आवश्यकता होगी जिसमें आपको प्लांट के लिए 600-800 वर्गफीट, गोदाम के लिए 500-600 वर्गफीट,150-200 वर्गफीट का एक कार्यालय होना आवश्यक है कुल मिलाकर बिजनेस के लिए 1600-1800 वर्गफुट एरिया की आवश्यकता होती है।

विद्युत की डिमांड (Electricity Dimond)

कील बनाने का बिजनेस शुरू करने से पहले अवश्य पता कर लें कि जिस एरिया में आप प्लांट लगा रहे हैं वहाँ विद्युत की सप्लाई ठीक-ठाक कील बनाने में सभी मशीनों को चलाने के लिए कम से कम 5 किलोवॉट 3 फेस कामर्शियल विद्युत कनेक्शन की आवश्यकता पड सकती है।

कील बनाने का रॉ मैटेरियल (Raw materials)

कील बनाने का बिजनेस लिए मुख्यतः तीन प्रकार के रॉ मटेरियल की जरूरत पड़ती हैं।

  1. कील बनाने के लिए लोहे के तार (नील वायर) की जरूरत होती है यह वजन के हिसाब से ₹45,000 से ₹50,000 रूपये प्रति टन (अलग-अलग शहरों में भाव कम या ज्यादा हो सकता है) के भाव से मिलता है यह अलग-अलग क्रॉस सेक्शन में होते हैं जिसे अलग-अलग तरह के कील बनाए जाते हैं।
  2. लकड़ी का बुरादा कील बनाने के लिए दूसरी सबसे मुख्य वस्तु है लकड़ी के बुरादे से कील को चमकदार और सुंदर बनाया जाता है यह किसी भी मार्केट में या आरा मशीन पर 600 से ₹800 प्रति कुंटल के रेट से आराम से मिल जाएगा।
  3. पैकेजिंग मैटेरियल जैसे-पेपर कार्डबोर्ड और पैकेजिंग पॉलीथिन का इस्तेमाल तैयार कील के पैकेजिंग में किया जाता हैं यह आपको मार्केट में ₹250 से ₹300 प्रति किलो के हिसाब से मिल जाएगा इसमें पैकेजिंग करने के बाद कील को मार्केट में भेज दिया जाता है।

कील बनाने का रॉ मैटेरियल कहां से खरीदें

कील बनाने का बिजनेस करने के लिए लकड़ी का बुरादा एवं पैकेजिंग मैटेरियल आपके आसपास आसानी से उपलब्ध मिल जाएगा। अगर बड़े लेवल पर मेन्यूफैक्चरिंग कर रहे हैं तो बल्क मे छत्तीसगढ़ के रायपुर या पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर से खरीदें यहां आपको लोकल मार्केट से कम रेट में कच्चामाल मिल जाएगा ऑनलाइन सभी रॉ-मैटेरियल खरीदने के लिए ई-कॉमर्स वेबसाइट INDIAMART, OR TRADEINDIA के माध्यम से संपर्क करके खरीद सकते हैं।

कील बनाने वाली मशीन एवं कीमत (Machine and Price’s)

कील बनाने का बिजनेस के लिए मुख्यतः तीन तरह की मशीनों का प्रयोग किया जाता है।

वायर नेल मेकिंग मशीन

यह मशीन वायर नेल या कील बनाने के लिए सबसे मुख्य मशीन होती है जिससे तार के द्वारा कील का निर्माण किया जाता है यह मशीनें पूरी तरह से ऑटोमेटिक होती है और अलग अलग नंबर N2, N3, N4 की आती है या मशीनें नंबर के हिसाब से अलग-अलग साइज का वायर नेल बनाते हैं

मशीन का नं0कील की साइजमशीन का मूल्य
N2 0.5 इंच से 2.5 इंच तक₹160000+ GST
N3 0.5 इंच से 3 इंच तक₹200000+ GST
N4 0.5 इंच से 4.5 इंच तक₹230000 + GST
उक्त चार्ट में दिया गया मशीन का रेट मार्केट के हिसाब से कम या ज्यादा हो सकता है-

कटर ग्राइंडर मशीन

इस मशीन में दो तरह के ब्लेड लगे होते हैं एक तरफ कटर और दूसरी तरफ ग्राइंडर, कटर की जरूरत नेल वायर को काटने के लिए प्रयोग किया जाता है तथा ग्राइंडर से वायरनेल मेकिंग मशीन में लगे उपकरणों में धार देने के काम आता है इस मशीन की कीमत मार्केट में लगभग ₹15000 से ₹20000 रूपये हो सकती है।

पॉलिशिंग ड्रम मशीन

इस मशीन का उपयोग कील बनाने के बाद कील और लकड़ी के बुरादे को पॉलिशिंग ड्रम मशीन में डाल कर चमकीला, सुंदर और जंग रहित बनाया जाता है इस मशीन की कीमत मार्केट में लगभग ₹45000 से ₹50000 रूपये हो सकती है।

कील बनाने की मशीन कहां से खरीदें

कील बनाने की मशीन खरीदते समय मशीन की गुणवत्ता, उत्कृष्टता, उत्पादन क्षमता, वारंटी का आदि का विशेष ध्यान दें अगर मशीन ऑनलाइन खरीदते हैं तो एक बार बिक्रेता या मेन्युफेक्चरर के शाॅप पर विजिट कर लें तभी किसी भी तरह का पेमेंट करें कील बनाने की मशीन आप 2 तरीकों से खरीद सकते हैं।

ऑफलाइन तरीके से मशीन खरीदने के लिए आप अपने नजदीक के किसी बड़े शहर में जाकर थोक बिक्रेता या मशीन के मेन्युफेक्चरर से खरीद सकते हैं।

ऑनलाइन कील बनाने की मशीन खरीदने के लिए आप ई-कॉमर्स वेबसाइटों INDIAMART, OR TRADEINDIA आदि के माध्यम से सम्पर्क करके खरीद सकते हैं।

कील बनाने की प्रक्रिया (Manufacturing process)

कील बनाने का बिजनेस कील बनाने की प्रक्रिया बहुत ही आसान होती है इसे मशीनों के द्वारा बहुत ही आसानी से निम्न प्रक्रिया से बना सकते हैं।

  • कील बनाने के लिए वायर नेल रॉ मैटेरियल के बंडल को स्टैंड में लगा दिया जाता है।
  • उसके बाद वायर का एक हिस्सा वायर नेल मेकिंग मशीन में लगा देते हैं।
  • वायर नेल मेकिंग मशीन में डिमांड के अनुसार सेटिंग करने के बाद ऑटोमेटिक तरीके से दूसरे तरफ से कील तैयार होकर निकलने लगती है।
  • कील बनने के बाद कील को सुंदर और चमकदार बनाने के लिए पॉलिशिंग ड्रम में लकड़ी के बुरादे के साथ डाल दिया जाता है।
  • इसके बाद कील पूरी तरह से बनकर तैयार हो जाता है जिसको किलो के हिसाब से पैक करके मार्केट में भेज दिया जाता है।

कील बिजनेस में जरूरी वर्कर (Warker)

कील बनाने का प्लांट लगाने के लिए अधिक वर्कर्स की आवश्यकता नहीं होती है मशीन को संचालित करने के लिए दो अनुभवी कारीगर तथा तैयार माल की पैकेजिंग करने एवं मार्केटिंग करने के लिए दो से तीन हेल्पर कारीगर कुल मिलाकर स्वयं के साथ 4 से 5 वर्कर्स की आवश्यकता पड़ सकती हैं।

कील की पैकेजिंग कैसे करें (Wirenail Packing)

कील बन जाने के बाद उसकी पैकेजिंग करने के लिए मोटा कागज या गत्ता की थैली बनाकर उसमें डिमांड के अनुसार अलग-अलग वजन में कील को भरकर पॉलिथीन में पैक कर दिया जाता है साधारणतया मार्केट में 1 किलो वजन से लेकर 50 किलो वजन तक का पैकेट बनाया जाता है और आप चाहे तो ऊपर से अपने कंपनी की जानकारी एवं उसका लोगो भी लगा सकते हैं।

कील की मार्केटिंग कैसे करें (Wirenail marketing)

वैसे तो कील बनाना होलसेल बिजनेस है लेकिन शुरुआती दौर में अपने आसपास के हार्डवेयर की दुकान, फर्नीचर की दुकान कंट्रक्शन एरिया में संपर्क करके बेच सकते हैं कील की मार्केटिंग आप सीधे क्षेत्रीय कारपेंटरों एवं फर्नीचर कारीगरों से संपर्क करके कर सकते हैं और जैसे-जैसे आपका बिजनेस बढ़ता जाए वैसे वैसे आप अपने मार्केटिंग का दायरा भी थोक विक्रेताओं तक बढाते जाए।

कील बनाने का बिजनेस अगर आप बडे़ लेबल का करते हैं तो ऑनलाइन ई-कॉमर्स वेबसाइटों  INDIAMART OR TRADEINDIA आदि के माध्यम से भी कर सकते हैं।

कील बनाने का बिजनेस में कितना निवेश चाहिए (Total Investments)

मार्केटिंग पर खर्च₹20000-
मकान का किराया₹5000-
मशीन की कीमत N3, कटर
एवं पॉलिशिंग ड्रम मशीन
₹260000+18% GST-
राॅ मटेरियल पहली बार₹150000-
लाइसेंस पर खर्च₹10000-
विद्युत पर खर्च₹10000-
अन्य खर्च₹50000-
टोटल लागत₹505000-
जाट में बताया गया खर्च कम या ज्यादा हो सकता है

कील बनाने का बिजनेस के लिए ऋण (Loan)

भारत की बढ़ती बेरोजगारी को देखते हुए पिछले कुछ सालों में राज्य एवं केंद्र सरकार के द्वारा बेरोजगारी कम करने एवं आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से मेक इन इंडिया के तहत लघु उद्योग लगाने के लिए कई सारी ऋण योजनाएं चलाई जा रही हैं जिसमें प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना आदि प्रमुख है।

इन सभी योजनाओं के तहत कील बनाने का बिजनेस शुरू करने के लिए ऋण की आवश्यकता पड़ने पर आप अपने संपूर्ण डॉक्यूमेंट जैसे कंपनी का लाइसेंस, पैन कार्ड, जीएसटी, आईडी कार्ड,प्रोजेक्ट रिपोर्ट, अन्य जरूरी दस्तावेज के साथ नजदीकी वित्तीय संस्थान या बैंक शाखा में संपर्क करके लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

कील बनाने के बिजनेस में प्रॉफिट (Profit)

कील बनाने का बिजनेस में मुनाफे की बात करें तो अगर हम उच्च क्वालिटी का प्रोडक्ट तैयार करते हैं और मार्केटिंग पर विशेष ध्यान देते हैं तो इस बिजनेस में 15 से 20% का लाभ आराम से मिल सकता है।

किसी भी बिजनेस में लाभ प्रोडक्ट की क्वालिटी, मैन्युफैक्चरिंग का खर्च एवं मार्केटिंग पर निर्भर कर सकता है और लाभ कम या ज्यादा भी हो सकता है।

रजिस्ट्रेशन एवं लाइसेंस (Registration and licence)

कील बनाने का बिजनेस में आपको कुछ रजिस्ट्रेशन एवं लाइसेंस बनवाने आवश्यक होते हैं।

  • MSME Registration
  • Factory license
  • GST
  • PANCARD
  • IEC Certificate

निष्कर्ष (Conclusion)

दोस्तों उक्त आर्टिकल के माध्यम से इस निष्कर्ष पर पहुंचते हैं कि कोई भी इच्छुक व्यक्ति जिसके पास मजबूत दृढ़ शक्ति, इन्वेस्ट की क्षमता है कील बनाने का बिजनेस शुरू कर सकता है छोटे लेवल पर कम लागत में अच्छा लाभ कमा सकता है अगर आप बड़े लेवल पर करना चाहते हैं तो बिजनेस प्लान एवं मार्केट रिसर्च अच्छे से कर ले क्योंकि इस बिजनेस में अधिक इन्वेस्टमेंट करना पड़ता है और अधिक इन्वेस्ट करने के बाद फिर आपको किसी तरह से सोचना ना पड़े।

कील बनाने का बिजनेस से सम्बन्धित प्रश्न Frequently Asked Questions

Q1. कील बनाने का रॉ मैटेरियल कहां से खरीदें?

कील बनाने का बिजनेस करने के लिए लकड़ी का बुरादा एवं पैकेजिंग मैटेरियल आपके आसपास आसानी से उपलब्ध मिल जाएगा। अगर बड़े लेवल पर मेन्यूफैक्चरिंग कर रहे हैं तो बल्क मे छत्तीसगढ़ के रायपुर या पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर से खरीदें यहां आपको लोकल मार्केट से कम रेट में कच्चामाल मिल जाएगा ऑनलाइन सभी रॉ-मैटेरियल खरीदने के लिए ई-कॉमर्स वेबसाइट INDIAMART, OR TRADEINDIA के माध्यम से संपर्क करके खरीद सकते हैं।

Q2. कील बनाने की मशीन कहां से खरीदें?

कील बनाने की मशीन आप 2 तरीकों से खरीद सकते हैं।
ऑफलाइन तरीके से मशीन खरीदने के लिए आप अपने नजदीक के किसी बड़े शहर में जाकर थोक बिक्रेता या मशीन के मेन्युफेक्चरर से खरीद सकते हैं।
ऑनलाइन कील बनाने की मशीन खरीदने के लिए आप ई-कॉमर्स वेबसाइटों INDIAMART, OR TRADEINDIA आदि के माध्यम से सम्पर्क करके खरीद सकते हैं।

Q3. कील बनाने का बिजनेस के लिए सही लोकेशन कैसे चुनें?

कील बनाने का बिजनेस करने के लिए सही लोकेशन का होना आवश्यक है जिससे किसी भी मौसम में प्लांट को संचालित करने में कोई दिक्कत ना हो। कोशिश करें कि आपका प्लांट इंडस्ट्रियल एरिया में बिजनेस से संबंधित सभी तथ्‍य एवं परिस्थितियां अनुकूल होती हैं अगर इंडस्ट्रियल एरिया में नहीं है तो कील बनाने का प्लांट खुद का या किराए का जगह हो लेकिन पक्की सड़क पर होना चाहिए जहां किसी भी मौसम में ट्रांसपोर्ट करने में आसानी हो तथा उस एरिया में विद्युत की सप्लाई ठीक-ठाक होनी चाहिए।

Q4. कील बनाने में कौन कौन रजिस्ट्रेशन एवं लाइसेंस लगता है?

कील बनाने का बिजनेस में आपको कुछ रजिस्ट्रेशन एवं लाइसेंस बनवाने आवश्यक होते हैं।
1.MSME Registration
2.Factory license
3.GST
4.PANCARD
5.IEC Certificate

Q5. कील बनाने के बिजनेस में कितना प्रॉफिट होता है?

कील बनाने का बिजनेस में मुनाफे की बात करें तो अगर हम उच्च क्वालिटी का प्रोडक्ट तैयार करते हैं और मार्केटिंग पर विशेष ध्यान देते हैं तो इस बिजनेस में 15 से 20% का लाभ आराम से मिल सकता है।

Q6. एक किलो वायर में कितना कील तैयार हो जाता है?

एक किलो तार में कितना कील बनता है या फिक्स नहीं है क्योंकि अलग-अलग कील बनाने के लिए अलग-अलग साइज के तार आते हैं और उनका वजन भी अलग-अलग होता है वैसे कील बनने में तार का नुक्सान(वेस्ट) नहीं बहुत कम होता है।

दोस्तों हम उम्मीद करते हैं कि आपको हमारे द्वारा लिखा गया यह महत्वपूर्ण लेख कील बनाने का बिजनेस 2023 कैसे शुरू करें लागत प्रकिया मशीन मुनाफा सम्पूर्ण जानकारी Wair nail making business in hindiपसंद आया होगा यदि आपका इससे जुड़ा कोई सवाल या सुझाव है तो हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं इस जानकारी को आगे शेयर जरूर करें ।

2 thoughts on “कील बनाने का बिजनेस 2023 कैसे शुरू करें लागत प्रकिया मशीन मुनाफा सम्पूर्ण जानकारी | Wair nail making business in hindi”

Leave a Comment