मैदा बनाने का बिजनेस 2023 कैसे शुरू करें | Low competition high profit maida making business in Hindi

(बिजनेस प्लान एवं मार्केट रिसर्च, लागत, मशीन, रॉ मैटेरियल, मेकिंग प्रोसेस, लाइसेंस,प्रक्रिया,लाभ) 

Hindi Business Ideas Join Now
Hindi Business Ideas Join Now

मैदा बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें- दोस्तों हमारा भारत विश्व की सबसे बड़ी आबादी वाला कृषि प्रधान देश है हमारे यहां सभी प्रकार के अनाज प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है जो जीवन जीने के लिए आवश्यक बहुत ही आवश्यक होते है और अनाज लोगों की प्राथमिक जरूरत भी है कोई भी व्यक्ति बिना अनाज के एक दिन भी जीवित नहीं रह सकता पहले लोग अनाज की पूर्ति के लिए टेक्नोलॉजी नहीं होने की वजह से कठिन परिश्रम करते थे पत्थर की चक्की को हाथों से चला कर अनाज पीसते थे लेकिन अब बहुत सी ऐसी टेक्नोलॉजी और मशीनें आ गई हैं जिससे पहले की तुलना अब काम बहुत आसान हो गया है।

अब कृषि और अनाज से संबंधित काम जैसे गेहूं, चावल, मसाला पीसने का काम, सरसों से तेल निकालने का काम, दाल बनाने का काम से लेकर एवं फूड प्रोसेसिंग काम आसानी से छोटे से लेकर बड़े मशीनों से हो जाते हैं अनाज एवं अनाज से संबंधित प्रोडक्ट की डिमांड हमेशा बनी रहती है और इन्हीं डिमांड को पूरा करने के लिए आज बहुत बड़े-बड़े उद्योग चल रहे हैं यदि आप भी फूड प्रोडक्ट से संबंधित उद्योग लगाने के मूड में है अगर आपके अंदर निवेश की क्षमता और बिजनेस की रूचि है तो मैदा बनाने का बिजनेस शुरू करने का प्लान बना सकते हैं क्योंकि आज के समय में बिजनेस बहुत ही प्रॉफिटेबल बिजनेस होने वाला है।

तो चलिए इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको पूरा बताने का प्रयास करते हैं कि मैदा बनाने का बिजनेस कैसे शुरू कर सकते हैं इस बिजनेस में लागत, रॉ मटेरियल, मशीन प्रॉफिट, प्रक्रिया आदि बातों की संपूर्ण जानकारी इस आर्टिकल के माध्यम से करते हैं

होम पेज पर जाने के यहाँ क्लिक करें

Table of Contents

मार्केट रिसर्च एवं बिजनेस प्लान

मैदा बनाने का बिजनेस शुरू करने से पहले आवश्यक है कि इस बिजनेस को सफल बनाने से संबंधित सभी बातों का अध्ययन कर लें जैसे मशीन कहां लगाना है मशीन कितने की मिलेगी कौन कौन सी मशीन लगानी पड़ेगी प्लांट के लिए एरिया का रिक्वायरमेंट कितना है आपका इस बिजनेस में लागत कितना आने वाला है आपके आसपास और कितने लोग मैदा बनाने का बिजनेस करते है मैदा बिजनेस में लाभ कितना है इसकी पैकिंग, मार्केटिंग कैसे करते हैं इत्यादि बहुत सी महत्वपूर्ण बातों की जानकारी कर लेना आवश्यक होता है।

सभी प्रकार की जानकारी को प्राप्त करना बिजनेस को सफल बनाने के लिए अति आवश्यक होता है क्योंकि बिना मार्केट रिसर्च एवं बिजनेस प्लान के किसी भी बिजनेस में सफल नहीं हो सकते कोई भी बिजनेस चाहे छोटा हो या बड़ा हो हर व्यक्ति यही चाहता है कि उसका बिजनेस भविष्य में खूब चले और लंबे समय तक अच्छी कमाई होती रहे न कि कुछ महीनों में बिजनेस को बंद करने की नौबत आ जाए।

मैदा बनाने का बिजनेस की डिमांड

मैदा बनाने का बिजनेस एक ऐसा बिजनेस है जिसमें मैदा मेंकिग चक्की जिससे गेहूं, चावल, दाल, मक्का, ज्वार, चना, बाजरा आदि की पिसाई करके मैदा, आटा, सूजी, बेसन, सत्तू आदि बनाया जाता है मैदा की डिमांड हर मार्केट में हमेशा बनी रहती है क्योंकि भोजन से लेकर नाश्ता तक में मैदा का इस्तेमाल प्रमुखता से होता है जैसे नॉन हो, गुझिया हो, बर्गर हो या नूडल्स, अलग अलग तरह का पराठा हो सभी में मैदा का इस्तेमाल किया जाता है। 

इसके अलावा मैदा का बड़ी मात्रा में उपयोग औद्योगिक एवं व्यावसायिक उपयोग जैसे ब्रेड, बिस्कुट, केक, पिज्जा, बर्गर के लिए बन्द, डोनट्स, नूडल्स, दलिया, रस आदि को बनाने में भी किया जाता है इस प्रकार आप समझ गए होंगे कि इस तरह मैदा की डिमांड हर घर में बनी रहती है। उपरोक्त बातों से स्पष्ट है कि मैदा चक्की लगा कर मैदा बनाने का बिजनेस काफी फायदेमंद और फ्यूचरिस्टिक है। 

मैदा बनाने का प्लांट कैसे लगायें

मैदा बनाने का बिजनेस शुरू करने के लिए थोड़ा अधिक इन्वेस्टमेंट के साथ बड़ा सेटअप लगाने की आवश्यकता पड़ती है और वह आटा पीसने वाली आटा चक्की मशीन आप चाहे तो इस बिजनेस को अपने घर से या रेंट पर मकान लेकर भी खोल सकते हैं। तो आइए मैदा बनाने के बिजनेस का विश्लेषण करें।

मैदा बनाने की मशीन

मैदा बनाने का बिजनेस शुरू करने के लिए तीन प्रकार के मशीनों और उपकरणों की आवश्यकता होती है मैदा चक्की, तराजू, पैकिंग मशीन लेकिन मुख्य कार्य आटा/मैदा चक्की का होता हैं कुछ मशीनों का हम निम्नलिखित उल्लेख कर रहे हैं।

साधारण स्टोन चक्की

आमतौर पर इस चक्की का इस्तेमाल छोटे लेवल पर आटा एवं मैदा बनाने के लिए किया जाता है। इस मशीन के अंतर्गत स्थाई स्टोन चक्की के ऊपर दूसरा स्टोन चक्की अस्थाई और रनिंग पोजीशन मैं होता है अनाज को मशीन में डालने पर रनिंग पोजीशन वाला स्टोन अस्थाई स्टोन के ऊपर घर्षण करके बीच में अनाज को पीसता है इस चक्की को संचालित करने के लिए अलग से विद्युत मोटर या ईंधन चलित इंजन की आवश्यकता पड़ती है।

फुल ऑटोमेटिक चक्की

इस मशीन का उपयोग बड़े मात्रा में व्यवसायिक उपयोग के लिए किया जाता है यह मशीन फुल ऑटोमेटिक होता है इसमें गेहूं को सिर्फ मशीन में डाल दिया जाता है और मशीन ऑटोमेटिक तरीके से साफ़ करके गेहूं छिलका उतारकर गेहूं को पीसकर मैदा बना देती है इस चक्की को संचालित करने के लिए विद्युत की आवश्यकता पड़ती है।

मैदा बनाने की मशीन कहाँ से खरीदें

मैदा बनाने का बिजनेस शुरू करने के लिए मैदा बनाने की मशीन, पैकेजिंग मशीन, कांटा एवं अन्य उपकरण स्वयं जाकर अपने नजदीक के बड़े मार्केट जैसे बनारस, दिल्ली, लखनऊ, अहमदाबाद, मुंबई, पुणे, जयपुर, चंडीगढ़ आदि से खरीद सकते हैं।

उपरोक्त सभी मशीन ऑनलाइन ई कामर्स वेबसाइटों जैसे- INDIAMART, OR TRADEINDIA के माध्यम से संपर्क करके भी खरीद सकते हैं।

कच्चामाल कहाँ से खरीदें

मैदा बनाने का बिजनेस अगर आप बड़ा प्रोजेक्ट लगाते हैं तो आपको बड़े मात्रा में गेहूँ की जरूरत पड़ेगी ऐसे में गेहूं की डिमांड को पूरा करने के लिए अपने लोकल में गेहूं के बड़े व्यापारियों या किसानों से खरीद सकते हैं तथा भारत में गेहूं के अत्यधिक उत्पादित राज्यों से मध्य प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र आदि से काफी सस्ते दाम पर थोक में सीधे किसानों से खरीद सकते हैं।

रिक्वायरमेंट एरिया

मैदा बनाने का बिजनेस शुरू करने के लिए एरिया का रिक्वायरमेंट आपके मशीन पर डिपेंड करता है कि आप किस तरह का मशीन लगा रहे हैं अगर आप साधारण मशीन लगाते हैं तो एक कमरे में जो 10×15 का हो उसी से काम चल जाएगा वह चाहे अपना हो या किराए पर हो।

लेकिन अगर बड़े स्तर पर अपना खुद का ब्रांड बनाकर बिजनेस शुरू कर रहे हैं तो इसके लिए पूरा व्यवसायिक ऑटोमेटिक सेटअप लगाने की जरूरत होती है जिसमें करीब 3000 स्क्वायर फीट एरिया की आवश्यकता पड़ सकती है।

रिक्वायरमेंट मैन पावर

मैदा बनाने का बिजनेस करने के लिए आपको बडे़ व्यवसायिक सेटअप की जरूरत पड़ती है जिसमें मशीन को संचालित करने में गेहूं की बोरी को इधर उधर रखने एवं मशीन में डालने में तथा सफाई करने में अनाज को सुखाने और मैदा बनाने के बाद पैकिंग मार्केटिंग करने में कुल मिलाकर 5 से 7 वर्कर्स की आवश्यकता पड़ती है।

रिक्वायरमेंट विद्युत सप्लाई

मैदा बनाने का बिजनेस में साधारण चक्की को संचालित करने के लिए अलग से विद्युत मोटर या ईंधन चलित इंजन का प्रयोग किया जाता है तथा फुल ऑटोमेटिक मशीन को संचालित करने के लिए व्यावसायिक विद्युत कनेक्शन 8 से 10 किलोवाट लोड क्षमता चाहिए।

मैदा बनाने की प्रक्रिया

मैदा बनाने वाली मशीन लगाने से मैदा बनाने की प्रक्रिया अत्यधिक आसान हो जाती है निम्नलिखित प्रकिया के तहत सभी काम एक ही मशीन से ऑटोमेटिक तरीके से अपने आप हो जाते हैं।

  • सबसे पहले आप मार्केट से अच्छी क्वालिटी का गेहूं खरीद कर लाते हैं।
  • जब बाजार से आप गेंहू खरीदकर लाते हैं तो उसमें काफी मिट्टी, धूल एवं कचरा होता है इसलिए सबसे पहले गेहूं को अच्छे से धोकर साफ कर लें।
  • गेहूं को धोने के बाद उसे धूप में अच्छी तरह से सुखाना होता है।पूरी तरह से सूख जाने के बाद गेहूं से मिट्टी, धूल एवं कचरा को साफ कर दिया जाता है.
  • उसके बाद गेहूं को मशीन के हापर में डाल दिया जाता है।
  • गेहूं को मशीन में डालने के बाद मशीन ऑटोमेटिक तरीके से पहले गेहूं का छिलका या जोकर उतार देती है।
  • गेहूं का छिलका उतार जाने के बाद गेहूं को पीस मैदा बना दिया जाता है।
  • उसके बाद मैदा को आवश्यकतानुसार बोरी या पैकेजिंग पॉलिथीन में पैक करके मार्केट में भेज दिया जाता है।

मैदा बनाने के बिजनेस में कुल लागत

मैदा बनाने का बिजनेस छोटे लेवल पर करने के लिए अधिक इन्वेस्टमेंट की जरूरत नहीं पडती है इसमें चक्की जो आपको लगभग ₹50000 से 60000 रूपये तक में मिल जाएंगे जिसको आप या तो अपने घर पर या कोई दुकान रेंट पर लेकर इंस्टाल कर सकते हैं मशीन की क्वालिटी और क्षमता के हिसाब से मूल्य कम या ज्यादा हो सकता है मकान का किराया जगह और अलग-अलग शहर के हिसाब से अलग-अलग हो सकता है कुल मिलाकर इसमें एक मशीन पर लागत करीब ₹100000 तक लगने वाला है।

मैदा बनाने का बिजनेस बड़े लेबल पर औद्योगिक उद्देश्य से शुरू कर रहे हैं तो फुल ऑटोमेटिक चक्की मशीन जिसमें कम से कम 800000 -1000000 रुपए की लागत लगने वाली हैं और कच्चा माल ₹150000-200000 रूपये तथा पैकेजिंग मशीन में ₹50000 रूपये और पैकेजिंग बोरी के साथ कुल मिलाकर ₹1300000- 1500000 खर्च आने वाला है इसके बाद भी बिजनेस कितने बड़े लेवल का है इस बात पर लागत निर्भर करता है।

मैदा बनाने के बिजनेस में लाइसेंस

मैदा बनाने का बिजनेस शुरू करने और बिना किसी रूकावट के चलाने के लिए आपको निम्न लाइसेंस एवं रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता पड़ सकती है।

  • फैक्ट्री लाइसेंस, 
  • कंपनी का लाइसेंस,
  • ट्रेडमार्क लाइसेंस, 
  • जीएसटी रजिस्ट्रेशन,
  • FSSAI रजिस्ट्रेशन

बिजनेस के लिए ऋण

केन्द्र सरकार के द्वारा MSME को बढ़ावा देने के लिए जो आर्थिक रूप से पिछड़े छोटे उद्यमी हैं उनके लिए भी सरकार ने मेक इन इंडिया के तहत कई ऋण योजनाएं लांच किए हैं जैसे प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना, प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना तथा प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम आदि योजनाओं के माध्यम से ₹100000 तक का लोन ले सकते हैं जिसके लिए आपको अपने उद्यम के वैध डॉक्यूमेंट के साथ अपने नजदीकी बैंक शाखा में सम्पर्क करके मैदा बनाने का बिजनेस शुरू करने के लिए लोन ले सकते हैं।

मैदा बनाने के बिजनेस की मार्केटिंग

किसी भी बिजनेस को शुरू करने के लिए मार्केटिंग की आवश्यकता पड़ती है क्योंकि मैदा बनाने का बिजनेस में बड़ा इन्वेस्टमेंट करना होता है इसलिए इसकी मार्केटिंग पर भी खास ध्यान देने की जरूरत होती है मैदा घरेलू उपयोग के साथ ही व्यवसायिक प्रयोग अधिक होता है इसका उपयोग बड़ी-बड़ी खाद्य फैक्ट्रियों से लेकर होटल, रेस्टोरेंट्स आदि जगहों पर किया जाता है। ऐसे में अपना खुद का ब्रांड बनाकर अपने बिजनेस को सफल करना चाहते हैं तो आपको बिजनेस की मार्केटिंग बहुत आवश्यक है जिसके लिए आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीके से मार्केटिंग कर सकते हैं।

आफलाइन तरीके से करने के लिए आप न्यूज़ पेपर, मैगजीन, बैनर, पोस्टर आदि का सहारा ले सकते इसके अलावा आप कंपनी का अपना विजिटिंग कार्ड बनवाकर मार्केट में फोटो कर एवं होलसेलर दुकानदारों को विजिटिंग कार्ड अवश्य दें इसके अलावा आप छोटे बड़े शहरों में सीधे होलसेलर से मिलकर बेच सकते हैं।

आज का युग डिजिटल युग है ऑनलाइन मार्केटिंग के लिए फेसबुक, यूट्यूब, टी वी चैनल एवं अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर विज्ञापन के माध्यम से मार्केटिंग कर सकते हैं अपनी कंपनी की निजी वेबसाइट बनाकर उस पर अपने कंपनी और प्रोडक्ट की जानकारी एवं फोटो और वीडियो डालकर भी प्रचार-प्रसार और मार्केटिंग कर सकते हैं।

मैदा बिजनेस में लाभ

आमतौर पर बिजनेस के लिए लाभ ऐसा तत्व है जिस पर पूरा बिजनेस टिका होता है तथा बिजनेस में लागत और लाभ से उस बिजनेस का भविष्य तय होता है अधिक से अधिक मुनाफा कमाए इसके लिए आवश्यक है कि वह बिजनेस करने के तरीके, मार्केटिंग, लागत, लाभ सभी का कैलकुलेशन ठीक से करें उसी हिसाब से अपने बिजनेस को आगे बढ़ाएं।

मैदा बनाने का बिजनेस में लाभ उत्पादन और मार्केटिंग पर निर्भर करता है कि आप कितना अधिक से अधिक प्रोडक्ट की उत्पादन और सप्लाई करते हैं सही ढंग से इस बिजनेस को करते हैं तो लगभग ₹150000 से 200000  तक की कमाई कर सकते हैं।

ध्यान रखने योग्य जरूरी बातें

  • मैदा बनाने का बिजनेस को शुरू करने से पहले डिमांड और खपत के अनुसार बिजनेस प्लान बना लें और मार्केट रिसर्च कर ले तभी बिजनेस में हाथ डालें।
  • ग्राहकों के साथ हमेशा अच्छा व्यवहार करें और ग्राहकों को अच्छी सुविधा दें जिससे कि आपकी ग्राहक हमेशा आपसे खुश रहें।
  • आप अपने प्रोडक्ट की कीमत शुरू में थोड़ा सा कम ही रखें और प्रोडक्ट की क्वालिटी को हमेशा मेंटेन रखने की कोशिश करें।
  • मैदा बनाने के लिए कच्चामाल अच्छी क्वालिटी वाला खरीदें जिससे आप का मैदा भी अच्छी क्वालिटी का बने जिससे आपके ब्रांड का नाम खराब ना हो।
  • मैदा बनाने के बाद उसे अधिक समय तक स्टोर करके ना रखें पैकिंग के बाद जल्दी से जल्दी मार्केट में सप्लाई करने की कोशिश करें।
  • अपने चक्की का समय-समय पर सफाई जरूर करते रहें जिससे उसमें फफूद या कीड़े मकोड़े अंदर ना जाने पाए। 
  • मैदा की पैकिंग करते समय साफ सफाई का विशेष ध्यान दें क्योंकि यह लोगों की सेहत से जुड़ा हुआ प्रोडक्ट है।
  • आटा को पैकिंग करने के से पहले आटे से चोकर को अलग कर लें उसके बाद पैकिंग करें और सही से सील करें जिससे सीलन अंदर प्रवेश न कर पाए।
  • मैदा का पैकेट या बोरी आकर्षक और डिजाइनदार बनवाएं और उसमें मैदा डालकर वजन सही से करें ना कम करे ना ज्यादा करें।

निष्कर्ष (Conclusion) 

मैदा बनाने का बिजनेस सदाबहार बिजनेस है मैदा की डिमांड शहर हो या गांव हो मैदा घरेलू उपयोग के साथ बड़े मात्रा में व्यवसायिक कार्यों में उपयोग किया जाता है इस बिजनेस को कोई भी अनपढ़ या कम पढा लिखा व्यक्ति भी शुरू कर सकता है छोटे स्तर पर आप गांव में या अर्ध नगरीय क्षेत्र में कहीं से भी कम लागत में भी शुरू कर सकते हैं अगर आपके पास निवेश की क्षमता है तो बड़ा सेटअप लगाकर ही शुरू करें।

इन्हे भी पढ़े-

FAQ (Frequently Asked Questions)

Q1 मैदा बनाने की मशीन कहाँ मिलती है?

मैदा बनाने का बिजनेस शुरू करने के लिए मैदा बनाने की मशीन, पैकेजिंग मशीन, कांटा एवं अन्य उपकरण स्वयं जाकर अपने नजदीक के बड़े मार्केट जैसे बनारस, दिल्ली, लखनऊ, अहमदाबाद, मुंबई, पुणे, जयपुर, चंडीगढ़ आदि से खरीद सकते हैं।
उपरोक्त सभी मशीन ऑनलाइन ई कामर्स वेबसाइटों जैसे- INDIAMART, OR TRADEINDIA के माध्यम से संपर्क करके भी खरीद सकते हैं।

Q2 मैदा बनाने के बिजनेस में कितनी कमाई हो सकती है?

मैदा बनाने का बिजनेस में लाभ उत्पादन और मार्केटिंग पर निर्भर करता है कि आप कितना अधिक से अधिक प्रोडक्ट की उत्पादन और सप्लाई करते हैं सही ढंग से इस बिजनेस को करते हैं तो लगभग ₹150000 से 200000  तक की कमाई कर सकते हैं।

हमारे द्वारा लिखा गया यह महत्वपूर्ण व्यापार लेख मैदा बनाने का बिजनेस 2023 कैसे शुरू करें | Low competition high profit maida making business in Hindi पसंद आया होगा यदि आपका इससे जुड़ा कोई सवाल या सुझाव है तो हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं इस जानकारी अच्छी लगी हो तो आगे शेयर जरूर करें इस व्यापार लेख पर समय देने के लिए धन्यवाद।

Leave a Comment